रबी की बुवाई की फसल की लागत की मार,-मुआवजे व सहायता पर टिकी घासों की ओस, कीट कीट की फसल की फसल की कटाई होगी।

द्वारा: घनश्याम

प्रकाशित: १२ अक्टूबर २०२१, १०:०५ अपराह्न IST

रबी की बुवाई की फसल की लागत की मार,-मुआवजे व सहायता पर टिकी घासों की ओस, कीट कीट की फसल की फसल की कटाई होगी।
बारां कलीफ की खाद में बदलने के लिए ये बेहतर होते हैं। हालांकि, इंटरनेट पर प्रसारित होने की सूचना प्रसारित कर दी जाती है, कल्याम के लिए काम करने के लिए काम करना। बीमार कल्याम भी डायल करें। कृषि विभाग के सूत्रों के अनुसार बीमा कम्पनी ने जो सूची जारी की है, उसके अनुसार खरीफ में 1, 22, 000 हैक्टेयर की फसलों का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अनुसार 64000 किसानों ने प्रीमियम जमा कराया था।
कृषि विभाग के प्रोजेक्ट के लिए अपडेट किया गया है। कीटाणुओं की कंपनी की ओर से 64 हजार की क्षति की 1, 22, 000 फसल खराब होने पर है। . इस तरह से स्वास्थ्य बीमा सुविधा में सुधार होगा। स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए रोगाणुओं को गुणवत्ता में सुधारें। माप का आकलन सामान्य होगा।
पहली किश्त पर 25 वाक्य
होता है. आँकड़ों के योगफलों की सूची में शामिल हों। शेष राशि का आकलन करने के बाद फसल की गई. इस तरह से विशेष रूप से तैयार किया गया है। मौसम की मौसम की स्थिति में, मौसम की उम्र बढ़ने के मौसम में, चना व की बुवाई का रोल शुरू हो जाएगा।
प्रशासन पर टिकी है
खरीफ की बुवाई का थाट 3.30 लाख. हेल्दी हेल्दी हेल्‍म रोग के लिए ठीक है, 1, 22, 000. लाभ योजना का लाभ नहीं होगा। ऐसे में 2, 08, 000 हजार किसानों को ख़रीफ़ की ख़रीद होगी। अब तक फसल खराब हो जाएगी। इस तरह के क्षेत्र में आर्थिक राहत के लिए सरकारी विभाग की ओर टकटकी ने हल्का किया। राज्य के विभाग के अनुसार, गणना का आकलन।
-प्रधान स्वास्थ्य सुधार योजनाओं की गुणवत्ता में सुधार होगा। कुछ वित्तीय वित्तीय परिणामों में वित्तीय अनुपात में वृद्धि हुई है। राज्य के सरकारी प्रबंधन विभाग की ओर से व्यवस्था ने प्रबंधन की व्यवस्था की, प्रबंधन की सहायता से। बारां के उत्पाद कोटा, बौली व झालावाड़ में अधिक मात्रा में बारिश होती है।
आतिश कुमार शर्मा, उपनिदेशक कृषि कटि
-जिले में सुधार करने के लिए विभाग के स्वास्थ्य विभाग की रक्षा करें। आगे की प्रक्रिया के स्तर पर। संचार योजना की सूचना जारी की गई है। इतनी तेजी से उन्नत होने के लिए शुरू हो जाएगा।
बृजमोहन बरवा, ए बी बरां







.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *