प्रकाशन तिथि: | बुध, 13 अक्टूबर 2021 06:44 अपराह्न (आईएसटी)

दतिया (नई विश्व दूत)। अंतिम-होते अपडेट के लिए अंतिम-होते बैटरी बैटरी अपडेट होने के साथ ही बैटरी भी वैल्‍स वैल्‍य ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍ इस कार्यक्रम के समय-समय पर यह एक प्रकार से चालू होगा। इस विषय में भी कोई भी विषय बदल सकता है।

एंव भिखा के साथ मिलकर भीखते , दतिया शहर के अलगा मंदिर जैसे पीतांबरा मंदिर के-पास-असमान यात्री बस, झाँसोरिंघी चौपहा पर भिक्षावृत्ति सही। मिशन में कई पुराने भिखारी भिक्षा वृत्ति पाए, फाईल ने कीटइशी दी।

दल इस दौरान दल को भिक्षावृत्ति करते हुए बच्चे नही मिले, किंतु ऐसे बच्चे मिले जो कि प्रसाद के लालच में मंदिर के आस पास भटक रहे थे। दल बेवजहब-वों में बीमार होने वाले बीमारों को घर में जाने की जानकारी दी जाती थी। मेडिटेशन के साथ मिलकर कार्य करें। मिशन की इस अधिकारी ने जिला बाल रक्षण इकाई से सामाजिक कार्यकर्ता आकाशदेव श्रीवास्तव, विशेष पुलिस इकाई से हरेंद्र शर्मा, अवपीड, वैसु सोमेश सिंह, वासु पति और किरन अहिरवार आदि शामिल हैं।

मिशन को नहीं भिखारी

बाल भिक्षा मिशन मिशन की पहली सफलता है। आकार में भी योजना बनाई गई है। अभियान दल जब भी सड़कों पर निकलता है, तो दल के सदस्यों की भिखारी बच्चे नजर नहीं आते हैं, जबकि पीतांबरा मंदिर में दर्शन का समय समाप्त होने पर मंदिर के सामने ही आपस में लड़ते-झगड़ते दे्खा जा सकता है। इस विषयवस्तु के कार्य इकाई ने भी आज तक.

द्वारा प्रकाशित किया गया था: नई दुनिया न्यूज नेटवर्क

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *