हाइलाइट्स

  • धार्मिक नगरी वृंदावन में सगे फूफा पर 14 साल की मासूम भतीजी के साथ दुराचार का आरोप
  • घटना को अंजाम देने के बाद फरार हुआ आरोपी
  • आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस, थाना वृंदावन क्षेत्र का मामला

निर्मल राजपूत, मथुरा
उत्तर प्रदेश के थाना वृंदावन क्षेत्र की एक कॉलोनी में सामाजिक रिश्तों और मानवता को तार-तार करने वाला मामला सामने आया है। रिश्ते में सगे मौसा पर मानसिक व शारीरिक रूप से कमजोर अपनी ही नाबालिग भतीजी के साथ दुराचार का आरोप लगा है। आरोपी मौसा वारदात को अंजाम देने के बाद से फरार है।

वृंदावन कोतवाली क्षेत्र का मामला

रविवार की देर शाम वृंदावन कोतवाली क्षेत्र की एक कॉलोनी में 14 साल की भतीजी के साथ मौसा पर दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। किशोरी के परिवार वालों का कहना है कि दुष्कर्म की घटना के बाद आरोपी मौसा मौका पाकर फरार हो गया। पीड़िता के द्वारा परिजनों को आप बीती बताने पर परिवारीजन सकते में आ गये। किशोरी की नानी ने मौसा के खिलाफ दुराचार के आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई है। बताया जा रहा है कि बचपन में ही किशोरी की मां की मौत हो गई थी। मां की मौत के बाद से नाना नानी द्वारा किशोरी की परवरिश की जा रही है।

मथुरा में अनियंत्रित होकर बम्बे में गिरी तेज रफ्तार कार, हरियाणा के तीन लोगों की दर्दनाक मौत
पुलिस ने दर्ज किया केस, फोरेंसिक जांच का इंतजार

पीड़िता की नानी द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के अनुसार 17 जुलाई की शाम को महोली रोड निवासी उनका नामजद दामाद घर आया था। 18 जुलाई कि सुबह 6 बजे किशोरी जब कमरे में झाड़ू लगा रही थी, तभी आरोपी ने नाबालिग भतीजी को अकेला पाकर उसके साथ दुराचार किया। मामले में रविवार रात को ही पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 376 व 3/4 में रिपोर्ट दर्ज कर ली है और किशोरी को मेडिकल के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय भेज दिया है। वृंदावन थाना प्रभारी निरीक्षक शशि प्रकाश शर्मा ने बताया कि अभी तक रेप की पुष्टि नहीं हुई है। पीड़िता के कपड़े फोरेंसिक जांच के लिए भेजे गए हैं। रिपोर्ट आने के बाद वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

धार्मिक नगरी वृंदावन में शर्मसार हुए रिश्ते, मौसा पर 14 साल की मासूम भतीजी के साथ दुराचार का आरोप

धार्मिक नगरी वृंदावन में शर्मसार हुए रिश्ते, मौसा पर 14 साल की मासूम भतीजी के साथ दुराचार का आरोप



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *