प्रकाशन तिथि: | मंगल, 12 अक्टूबर 2021 09:20 अपराह्न (IST)

अमझेरा (नई न्यूज न्यूज)। मेनेवर मार्ग पर भेरू के जंगल में एक बार फिर आमद है। मारक खेत में खेल खेलने के लिए डॉ. शोरने पर तेंदुआ बालिका को समाप्त किया गया। बालिका को हाल ही में अमझेरा के सामुदायिक केंद्र में उपचार के बाद धार रेफर किया गया था, जहां रहने की जगह थी।

टांडा वन परिक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले युद्ध में शामिल हैं पहली बार पता लगाने के बाद 10 साल के बच्चे की मौत हो गई। उस समय तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग ने अलग-अलग पिंजरे लगाए थे, लेकिन पकड़ में नहीं आया था।

फिर भी आ धमका

बालिका के पति-पत्नी की उम्र बढ़ने के साथ ही सुबह 5ः30 बजे पति-पत्नी में खेती होती है। तूफान ने हमला किया। पांचछ-छहं उपलब्ध। शोर मचाया तो तेंदुआ बालिका को बाहर किया गया। गंभीर… एक ने इलाज किया। डॉक्टर चौधरी ने बाल बालिका के बाल और ब्रेस्ट पर टांके लगाए। गंभीर होने पर बेहतर उपचार के लिए धार रेफर था।

तीन तीन में तीन प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई

तेंदुए तेंद की संख्या बढ़ जाती है। क्षेत्र के लोगों में दहशत है। . कड़डा में 16 अगस्त को 10 बजे बच्चे की मौत हो गई थी। टांडा पर्यावरण के क्षेत्र में बैवडी में घुसने के बाद हमला करने वाले थे। मृत्यु हो सकती है।

समूह और दवा

वन विभाग के सरदारपुर के ️

आप

डिसेबल राठौर ने बालिका की हत्या हो गई है। नियमावली तूफान के असर के प्रयास शुरू कर रहे हैं। पिंजरे लगाए हैं।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: नई दुनिया न्यूज नेटवर्क

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed