हाइलाइट्स:

  • अयोध्या मिलिट्री इंटेलिजेंस केे इनपुट पर अयोध्या की कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच को बड़ी सफलता हाथ लगी है
  • कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच ने सेना व अर्धसैनिक बल समेत विभिन्न विभागों में नौकरी दिलवाने के नाम पर लाखों रुपए गबन वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है
  • कैंट पुलिस व एसओजी ने 7 ऐसे आरोोपियों को गिरफ्तार किया है जो भोले भाले युवकों को नौकरी देने के नाम पर फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर देते थे
  • इसकी सूचना मिलिट्री इंटेलिजेंस को मिली इसके बाद अयोध्या पुलिस ने सब की गिरफ्तारी करते हुए बड़ा खुलासा किया है

मयंक श्रीवास्तव अयोध्या
अयोध्या मिलिट्री इंटेलिजेंस केे इनपुट पर अयोध्या की कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच को बड़ी सफलता हाथ लगी है। कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच ने सेना व अर्धसैनिक बल समेत विभिन्न विभागों में नौकरी दिलवाने के नाम पर लाखों रुपए गबन वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है। कैंट पुलिस व एसओजी ने 7 ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार किया है जो भोले भाले युवकों को नौकरी देने के नाम पर फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर देते थे। इसकी सूचना मिलिट्री इंटेलिजेंस को मिली इसके बाद अयोध्या पुलिस ने सब की गिरफ्तारी करते हुए बड़ा खुलासा किया है।

बड़ी संख्या में फर्जी नियुक्ति पत्र बरामद
मामले की जानकारी देते हुए शैलेश पांडे ने बताया कि सभी आरोपियों को कैंट थाना क्षेत्र के गुप्तार घाट के पास से गिरफ्तार किये गए है। पकड़े गए आरोपी मथुरा अलीगढ़ प्रयागराज दिल्ली व राजस्थान के रहने वाले हैं। राजस्थान में आरोपियों के खिलाफ कई आपराधिक मुकदमे भी दर्ज हैं। जिस पर अयोध्या पुलिस राजस्थान पुलिस के सम्पर्क में है। गिरफ्तार किए गए संतोष कुमार, ओम प्रकाश प्रजापति, राकेश कुमार, अभिषेक, अजीत प्रसाद, अनिल कुमार व विनोद मौर्या शामिल है इनके पास से एक कार, सेना अर्धसैनिक बल व अन्य सरकारी विभागों की काफी मात्रा में कूट रचित व फर्जी नियुक्ति पत्र बरामद हुए हैं। इसके साथ ही 10 राजपत्रित अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र की कूट रचित प्रति भी बरामद हुई है। फर्जी चरित्र प्रमाण पत्र विभिन्न विभागों के फर्जी प्रवेश पत्रों के साथ-साथ फर्जी फिजिकल टेस्ट प्रमाण पत्र भी बरामद किए गए हैं।

UP Police Bharti 2021: यूपी पुलिस में SI, ASI पदों पर निकली भर्ती, 1 लाख से ज्यादा वेतन, देखें डीटेल
मिलिट्री इंटलीजेंस ने दी थी जानकारी

एसएसपी शैलेश पांडेय ने बताया कि लोगो को ठगने की नीयत से अभिषेक यहां आया था और सप्लाई का काम कर रहा था। उसके द्वारा ठगी होने पर जनपद में एक मुकदमा लिखा गया था। जिसमें मिलिट्री इंटलीजेंस ने इनपुट दिया। इनपुट को पुलिस टीम ने डेवलेप किया तथा 7 आरोपियो की प्रकरण में गिरफ्तारी हुई। उन्होने बताया कि राजस्थान, दिल्ली, नाथ ईस्ट में विभिन्न विभागों में इनके नाम पर ठगी की घटनाएं की गयी। इसके लिए पूछताछ की जा रही है। इसमें आगे भी काम किया जा रहा है।

कई प्रदेशों में नौकरी दिलाने में ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, फर्जी नियुक्ति पत्र के जरिये जारी था खेल

कई प्रदेशों में नौकरी दिलाने में ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, फर्जी नियुक्ति पत्र के जरिये जारी था ‘खेल’



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *