प्रकाशन तिथि: | बुध, 13 अक्टूबर 2021 सुबह 10:40 बजे (आईएसटी)

भिंड उर्वरक संकट समाचार: अब्बास अहमद, भिंड नया विश्व। आंच में बैठने का समस्या प्रबंधन यहां स्थित है। कड़ी मेहनत करना मुश्किल है। सुबह भिंड के गारे में डालने वाले ने ख़्याल रखने वाले खाते को कालाबाजारी में रखा। यहां पर जरूरतमंद किसानाें काे पंद्रह साै रुपये के हिसाब से खाद बेची जा रही थी। टीम काय से 130 डी एपी️एपी️एपी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

गाैरलब है कि रबी की फसल की बुवाई का हेयर ही चंबल अंचल में का संकट खाने वाला है। भिंड, मुरैना में गत राज में तीन जगह पर खां खा के रखा गया है। मुरैना में किसानाें ने गुण्डे लुटाने का प्रयास किया था। पर्यावरण के प्रभाव में सुधार के लिए जरूरी है। एडीशनल भिंड की गाेरमी थाने के बाद बड़ी बाराबाद में. गारेमी थाना पुलिस ने रविवार को मुंबई के बैंजन पर हमला किया। 130 डी ️एपी️एपी️एपी️️️️️️️️️️️️️️️️ . जांच की स्थिति में है। खास बात यह है कि खराब खाने के बाद भिंड में दाे खाने वाले की तरह भी हैं।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: विकास पांडेय

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *