मध्य प्रदेश समाचार: भोपाल (बहुविकल्पी)। राज्य में 12 लाख सांडों का बधियाकरण पशुपालन विभाग के 23 कर्मचारियों के काम आने के बाद वे सभी उप निदेशकों को करेंगे। … पसुन विभाग के अपर मुख्य नियंत्रक जेएन कंसोटिया ने मिशन को स्थायी की है।

पशुपालन विभाग ने अनुपयोगी सांडों के खेल का विशेष विवरण पेश किया है। आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के रोडमैप में अर्थव्यवस्था एवं रोजगार विषय में पशुओं की उत्पादकता बढ़ाने, पशुपालकों की आय में वृद्धि करने और निराश्रित गोवंश की समस्या को दृष्टिगत रखते हुए मिश्ान मोड में अनुत्पादक सांडों का बधियाकरण करना, के लक्ष्य की पूर्ति के लिए राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में एम.एन.

इस कार्य के लिए 12 लाख सांडों का बधियाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। सर्वर के आधार पर चौकसी बरती गई। राज्य में सांडों के बधियाकरण का कार्यक्रम वर्ष 1998-99 से राइड आ रहा है। साल 2020-21 में आठ लाख 26 हजार सांडों का बैधकरण ने लिखा था को बधिया करने का मिशन में इस्तेमाल करने के लिए पशुपालन विभाग के अपर मुख्य नियंत्रक जेएन कंपासो पर नियंत्रण स्थापित किया गया था।

भोले-भाले क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्ति के शरीर में कीटाणु होते हैं। इस प्रकार के मौसम के मौसम आज भी हैं। यह गलत है । —- शिवराज सिंह चौहान जब यह स्थिर हो, तो यह कैसा चल रहा है।

मौसम के ठीक होने के बाद भी वे अपडेट रहेंगे। डॉ.आरके महिया ने सभी निदेशकों को ठीक करने के लिए पूरा किया। बैधिया मिशन के लिए यह क्रम चलने वाला है। कुछ दिन पहले एक बार पूरा किया गया था और कुछ पूरा होने के बाद उसे पूरा किया गया था।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: रवींद्र सोनिक

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *