472 अभियंताओं ने 3742 परिसर पर मारे छापे
अजमेर डिस्कॉम

अजमेर. अजमेर विद्युत वितरण निगम ने बिजली चोरी के खिलाफ विशेष अभियान के तहत पिछले दो दिन में बिजली चोरी व दुरुपयोग के 1874 मामले पकड़े हैं। निगम के 472 अभियंताओं की टीम ने 3742 परिसर में जांच की। बिजली चोरों के खिलाफ 3.26 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया है। निगम ने इस बार नागौर, झुंझुनु, सीकर, बांसवाड़ा एवं चित्तौडगढ़़ वृत्त में छापेमार कार्यवाही कर बिजली चोरी व अनियमितताओं के मामलें दर्ज किए हैं। निगम के प्रबन्ध निदेशक वी.एस. भाटी ने बताया कि जांच में 1754 परिसर में बिजली चोरी के तथा 120 परिसर में विद्युत के गलत इस्तेमाल के मामले दर्ज कर कार्यवाही की गई है।
कहां कितने मामले पकड़े

नागौर जिले में 382 बिजली चोरों पर 69.23 लाख जुर्माना लगाया गया। झुंझुनूं में 343 बिजली चोरों पर 52.40 लाख, सीकर में 167 बिजली चोरों पर 36.65 लाख, बांसवाड़ा में 96 बिजली चोरों पर 10.56 लाख, चित्तौडगढ़़ में 415 बिजली चोरों पर 69.26 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। निगम की आईएंडएस विंग ने 15 बिजली चोरों पर 2.67 लाख, प्रोजेक्ट विंग ने 41 बिजली चोरों पर 8.30 लाख, एमएंडपी विंग ने 91 बिजली चोरों पर 15.41 लाख एवं विजिलेंस विंग ने 41 बिजली चोरों पर 8.30 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। टीम ने 120 जगह बिजली के गलत इस्तेमाल के मामले पकड़े जिनमें 16.53 लाख रुपयों का जुर्माना लगाया गया।
17 हजार 339 परिसर की जांच, 6963 जगह बिजली चोरी

निगम 15 जून से अब तक डिस्कॉम की टीम ने बिजली चोरों के विरुद्ध कार्यवाही कर 17 हजार 539 परिसरों की जांच की। 6 हजार 963 जगहों पर बिजली चोरी पकड़ते हुए 11 करोड़ 70 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। 803 उपभोक्ताओं पर विद्युत के गलत इस्तेमाल के मामले दर्ज कर 98.94 लाख का जुर्माना लगाया गया।

कई जगहों पर टेम्पर्ड मीटर से की जा रही थी बिजली चोरी
निगम के तहत आने वाले झुंझुनूं जिले के पिलानी सिटी क्षेत्र में दो टेम्पर्ड मीटर पकड़े गए। इनमें रेजिस्टेंस लगाकर बिजली चोरी की जा रही थी। पूर्व में झुंझुनूं में हरियाणा निर्मित अवैध ट्रांसफॉर्मर लगाकर बिजली चोरी के मामले भी पकड़े गए थे। सीकर में विजिलेंस चैकिंग के दौरान अवैध रूप से चलाए जा रहे ट्यूबवेल तथा घरेलू बिजली चोरी पर 40 हजार का जुर्माना किया गया। बांसवाड़ा में टीए टू एसई ने बिजली चोरी का एक तथा दुरूपयोग के 4 मामले पकड़ कर 69 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया। एक्सईएन बांसवाड़ा ने 31 चोरी व दुरुपयोग के मामले पकड़े। कुशलगढ़, बागीदौरा में भी कार्रवाई की गई।

read more: अतिरिक्त बिजली की आवश्यकता,ऑक्सीजन प्लांट निर्माण रुका









Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *