मनीष सिंह, मिर्जापुर
पंचायत चुनाव का बिगुल बजने के बाद जिला पंचायत के चुनाव में राजनीति के धुरंधर और बाहुबली विनीत सिंह भी कूद पड़े हैं। चर्चा है कि अपने करीबी के मध्यम से वह तीसरी बार इस सीट पर कब्जे की तैयारी में हैं। बात करें मिर्जापुर जिला पंचायत अध्यक्ष सीट की तो 25 साल बाद इस सीट को अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित किया गया है। अभी तक यह सीट विनीत सिंह के ही कब्जे में थी और पिछले दो पंचवर्षीय से उनकी पत्नी प्रमिला सिंह ही अध्यक्ष थीं।

25 साल बाद सीट हुई रिजर्व
बात करें तो 1995 में यह सीट अनुसचित जाति के खाते में गयी थीं और भगवती चौधरी अध्यक्ष बने थे। उसके बाद 2005 में जिले के समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व जिलाध्यक्ष शिवशंकर यादव की पत्नी प्रभावित यादव अध्यक्ष रहीं। 2010 और 2015 में यह सीट सामान्य फिर सामान्य महिला के खाते में गई। 2010 और 2015 में यह सीट वारणसी के चोलापुर के रहने वाले बाहुबली विनीत सिंह की पत्नी प्रमिला सिंह पंचायत अध्यक्ष बनी।

बीजेपी ने नहीं दिया है टिकट
ऐसे में एक बार फिर विनीत सिंह अपने करीबियों को जिला पंचायत सदस्य बनाकर इस सीट पर कब्जा बरकरार रखना चाहते है , हालांकि बीजेपी ने उनके उम्मीदवार को टिकट नही दिया है , उनका कहना है कि हमारा ऐसा कोई इरादा नही है जो पार्टी का फैसला होगा वही हमको मंजूर होगा।

क्षत्रियों में अच्छा खासा प्रभाव
पूर्व एमएलसी और भाजपा नेता विनीत सिंह का क्षत्रियों में अच्छा खासा प्रभाव है वारणसी, चंदौली ,मिर्जापुर समेत कई जिलों के ठाकुरों में उनका अच्छा खासा प्रभाव भी है । बसपा से अपना राजनीतिक सफर शुरू करने वाले विनीत सिंह 2009 में मिर्जापुर सोनभद्र सीट एमएलसी चुनें जा चुके हैं। इसके बाद इन्होंने अपनी पत्नी को मिर्जापुर जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने में कामयाब भी हुऐ।

चुनाव प्रचार करते विनीत

2019 में शामिल हुऐ बीजेपी में
वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में मतदान से तीन दिन पहले वह बीजेपी में शामिल हुए थे। चर्चा हैं कि इससे बीजेपी को चंदौली लोकसभा सीट पर फायदा हुआ था और सीट जितने में कामयाब भी हुऐ थे।

चलते हैं 0009 नंबर की गाड़ियों से
बड़े लाव-लश्कर और 0009 नंबर की लग्जरी गाड़ियों से चलने वाले विनीत सिंह ब्लैक बेल्ट भी हैं। उनका कहना है कि हमें लोग बाहुबली का दर्जा देते हैं। लेकिन वह गलत है। पिछले 10 सालों से ज्यादा वक्त हमको मिर्जापुर में हो गया है। हमारे ऊपर कोई आरोप नहीं मिलेगा। हां, यहां के लोगो का अपार स्नेह हमें जरूर मिला है। हालांकि विनीत सिंह का कहना है कि पिछले चुनाव में सपा की सरकार थी तो कई मुकदमे हम और हमारे समर्थकों के ऊपर किए गए थे। उसके बाद भी हम सीट जीतने में कामयाब हुऐ थे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *