हाइलाइट्स:

  • एलोपैथी के बाद बाबा रामदेव के ज्योतिष पर दिए बयान को लेकर विवाद
  • BHU के ज्योतिष विभाग के प्रफेसरों ने बाबा रामदेव के खिलाफ खोला मोर्चा
  • प्रफेसरों ने कहा कि लगता है बाबा रामदेव का मानसिक संतुलन ठीक नहीं है

अभिषेक जायसवाल, वाराणसी
एलोपैथी के बाद योग गुरु बाबा रामदेव के ज्योतिष पर दिए बयान को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। शुक्रवार को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के ज्योतिष विभाग के प्रफेसरों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बाबा रामदेव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। बीएचयू के प्रफेसरों ने बाबा रामदेव के दिए बयान पर नाराजगी जताते हुए कहा कि उनका (रामदेव) मानसिक संतुलन ठीक नहीं है।

संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के ज्योतिष विभाग के प्रफेसर डॉ. सुभाष पांडेय ने कहा कि बाबा रामदेव को न तो योग का ज्ञान है और न ही वेदों की शिक्षा। वो आयुर्वेद प्रोडक्ट के सिर्फ निर्माता हैं। ज्योतिष पर उन्होंने जिस तरह का बयान दिया है उससे लगता है कि उनका मानसिक संतुलन भी ठीक नहीं है।

सरकार से करेंगे शिकायत
ज्योतिष विभाग के डीन प्रफेसर विनय पांडेय ने कहा कि ज्योतिष पर दिए अनर्गल बयान पर बाबा रामदेव को माफी मांगनी चाहिए। हम लोग जल्द ही इस मामले में उन पर कार्रवाई की मांग को लेकर भारत सरकार को पत्र लिखेंगे। प्रफेसर चंद्रमौलि उपाध्याय ने भी बाबा रामदेव के इस बयान को अमर्यादित करार दिया।

जब रामदेव ने कहा- ‘किसी के बाप में दम नहीं जो बाबा को अरेस्‍ट कर सके’


रामदेव के इस बयान पर विवाद

हरिद्वार में बीते दो दिन पहले एक योग शिविर में बाबा रामदेव ने कहा कि सारे मुहूर्त भगवान ने बना रखे हैं। ज्योतिषी काल, घड़ी, मुहूर्त के नाम पर बहकाते रहते हैं। यही नहीं बाबा रामदेव ने ज्योतिष को एक लाख करोड़ की इंड्रस्टी भी बता दिया। उन्होंने कहा कि किसी ज्योतिषी ने नहीं बताया कि कोरोना आने वाला है। किसी ने ये भी नहीं बताया कि इसके बाद ब्लैक फंगस भी आने वाला है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *