हाइलाइट्स:

  • बिहार में आज से लॉकडाउन 4 हुआ प्रभावी, सरकार ने दी है ये छूट
  • सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक की खोली जा सकेगी दुकान
  • सरकारी दफ्तर में 25 फीसदी कर्मचारियों के साथ होगा काम, निजी दफ्तर फिलहाल बंद रहेंगे
  • दुकानों को बांटी गई श्रेणी के हिसाब से एक दिन के अंतर पर खोलने की अनुमति

पटना:
बिहार में आज यानि 2 जून से लॉकडाउन-4 प्रभावी हो चुका है। इसमें सरकार ने काफी छूट दी है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि अभी भी हालत सामान्य हैं। कोरोना से बचाव के सभी नियमों का अब भी पालन करना है।

बिहार में लॉकडाउन 4 प्रभावी
बिहार में अब पहले के मुकाबले दुकानें ज्यादा खुलेंगी। लॉकडाउन-3 के मुकाबले दुकानों के खुले रखने की समय सीमा भी बढ़ गई है। अब दोपहर 2 बजे तक दुकान खुली रहेंगी। इसके अलावा भी लॉकडाउन-4 में कुछ सहुलियतें दी गई हैं। हालांकि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करना होगा।
Covaxin for Kids : पटना एम्स में बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल शुरू, तीन को मिली पहली डोज… अब तक कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखा
लॉकडाउन-4 में किए गए कई बदलाव
राज्य में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सरकार ने 5 मई से बिहार में लॉकडाउन लगाया था। मंगलवार को लॉकडाउन-3 की मियाद खत्म हो गई। बुधवार से लॉकडाउन-4 प्रभावी होगा। पूर्व में लगाए गए कई प्रतिबंधों को लॉकडाउन-4 में हटा लिया गया है। अब सभी तरह की दुकानें एक दिन बीच कर खुलेंगी। जिला प्रशासन ने तय कर दिया है कि कौन सी दुकानें किस दिन खुलेंगी।

पटना जिले में कौन सीदुकान कब खुलेगी… जानने के लिए ये लिस्ट देखें

WhatsApp Image 2021-06-01 at 6.54.44 PM.

पटना जिला प्रशासन ने जानकारी दी है किलॉकडाउन के तहत प्रदत्त दिशा निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित कराने हेतु 45 स्टैटिक टीम , 7 गश्ती दल ,8 धावा दल का गठन किया गया है। स्टेटिक टीम में दंडाधिकारी पुलिस पदाधिकारी और पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। 2 जून से दुकान प्रतिष्ठान के खुलने एवं बंद करने संबंधी दिवस एवं समय का निर्धारण किया गया है। इसके अनुरूप जिला अंतर्गत दुकान प्रतिष्ठानों को तीन श्रेणियों में विभक्त कर प्रत्येक श्रेणी के लिए खुलने के दिवस का निर्धारण किया गया है तथा दुकान और प्रतिष्ठान सुबह 6:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक ही खुलेंगे । इसका सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने का आदेश जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक की तरफ से दिया गया है।

कुछ दुकानें रोज खुलेंगी
हालांकि खाद्य सामग्री, फल-सब्जी, दूध, मीट-मछली के अलावा खाद, बीज और कीटनाशक की दुकानें रोजाना खुलेंगी। इसके अलावा बाकी दुकानें अल्टरनेट डे पर खोली जा सकेंगी। लॉकडाउन-3 में शहरी क्षेत्रों में दुकानों को 6-10 और ग्रामीण इलाकों में 8-12 बजे तक खोलने की अनुमति थी। अब दुकानें 2 बजे दोपहर तक खोली जा सकती हैं।
Court on Coronavirus : पटना हाईकोर्ट ने बिहार सरकार से पूछा- कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए क्या है तैयारी
निजी दफ्तर रहेंगे बंद
निजी दफ्तर अभी बंद ही रहेंगे। उधर सरकारी दफ्तरों में भी करीब महीने भर बाद कामकाज शुरू होगा। लॉकडाउन-4 में सरकारी दफ्तरों को खोलने का आदेश दिया गया है। हालांकि अभी दफ्तरों में उपस्थिति 25 प्रतिशत ही रहेगी और कामकाज 4 बजे तक ही होगा।
घर पर रह कर भी होगा कोरोना का इलाज, वह भी सिर्फ एक गोली से!
कई नियम अभी भी जारी रहेंगे
लॉकडाउन-4 में कई प्रतिबंध जारी रहेंगे। गैर सरकारी कार्यालय अभी बंद रहेंगे। शादी, श्राद्ध और अंतिम संस्कार में 20 व्यक्ति ही शामिल हो सकते हैं। बारात और बैंड बाजे की इजाजत नहीं दी गई है। सभी धार्मिक स्थल आम लोगों के लिए बंद रहेंगे। स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, ट्रेनिंग सेंटर समेत शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे।

परीक्षाओं का भी आयोजन नहीं होगा। वहीं जिलाधिकारियों को अधिकार दिया गया है कि वह स्थानीय परिस्थितियों की समीक्षा कर अतिरिक्त प्रतिबंध भी लगा सकते हैं। हालांकि राज्य सरकार की तरफ से लगाए गए प्रतिबंधों में ढील देने का उन्हें अधिकार नहीं दिया गया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *