हाइलाइट्स

  • बिहार के चार रेलवे स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाएगा रेलवे
  • पटना का राजेंद्र नगर और गया जंक्शन बनेगा विश्वस्तरीय
  • मुजफ्फरपुर और बेगूसराय स्टेशन का भी पुनर्निमाण होगा
  • मध्य प्रदेश के सिंगरौली स्टेशन की भी चमकेगी किस्मत

पटना
बिहार के चार और मध्य प्रदेश एक रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास बनाने की तैयारी है। यात्रियों की सुविधाओं को लेकर तमाम विकास कार्यों में भारतीय रेलवे जुटा है। इस पर मिशन मोड में काम चल रहा है। इसके अलावे कई रेलवे स्टेशनों पर एयरपोर्ट जैसी सुविधा देने की तैयारी है।

बिहार के चार रेलवे स्टेशन बनेंगे वर्ल्ड क्लास
गया, राजेंद्र नगर, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय और मध्य प्रदेश के सिंगरौली रेलवे स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनाने की तैयारी है। काम भी शुरू हो चुका है। रेलवे का दावा है कि इन स्टेशनों पर रेल यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी तमाम सुविधाएं मिलेंगी।

World Class स्टेशन पर मिलनेवाली सुविझाएं

  • रेल यात्रियों के स्टेशन पर आने और जाने के लिए एग्जिट प्वाइंट ऐसा होगा कि यात्रियों की भीड़ न हो।
  • स्टेशन पर एक्सेस कंट्रोल गेट और हर प्लेटफार्म पर एस्केलेटर के साथ लिफ्ट की सुविधा होगी।
  • खान-पान, वॉशरूम, पीने का पानी, एटीएम, इंटरनेट जैसी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।
  • आम यात्रियों के साथ वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष सुविधाएं रेलवे स्टेशन पर होंगी।
  • गया स्टेशन और इसके आस-पास पर्यटक सुविधाओं का विकास किया जाएगा।
  • सैलानियों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी तो इसका लाभ स्थानीय लोगों को मिलेगा।
  • गया की तर्ज पर राजेंद्र नगर टर्मिनल, मुजफ्फरपुर जंक्शन और बेगूसराय स्टेशन का भी विकास होगा।
  • स्टेशनों के आसपास पार्किंग एरिया का निर्माण, अंडरग्राउंड या फिर मल्टीस्टोरी स्ट्रक्चर प्रस्तावित है।
  • जंक्शन के आस-पास की सड़कों को भी बेहतर बनाया जाएगा ताकि यात्रियों को परेशानी ना हो।
  • जंक्शन के सर्कुलेटिंग एरिया को पूरी तरह सुरक्षित जोन के रूप में विकसित किया जाएगा।
  • स्टेशन को पूरी तरह से हाईटेक लुक देते हुए यात्रियों को वर्ल्ड क्लास सुविधाएं दी जाएंगी।

देश के 123 स्टेशनों का पुनर्विकास किया जाएगा
स्टेशन पुनर्विकास प्रोजेक्ट (Station Redevelopment) के लिए रेलवे ने देश में 123 स्टेशनों को चुना है। इसके तहत पुनर्विकास का कार्य पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (PPP Model) के तहत निजी क्षेत्र की भागीदारी से किया जा रहा है। इसमें पांच रेलवे स्टेशनों का चुनाव हुआ है। इसका मुख्य उद्देश्य यात्रियों को सिक्योरिटी बेहतर और सुखद यात्रा का अनुभव कराना है। स्टेशन को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जाएगा। रेलवे की जमीन पर मॉल और मल्टीपर्पस बिल्डिंग बनाया जाएगा। स्टेशन का विकास सौर ऊर्जा और हरित इमारत के हिसाब से किया जाएगा।

ऐसा होगा वर्ल्ड क्लास स्टेशन

गया स्टेशन पर 173 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे
बिहार में गया की बात करें तो धार्मिक और पर्यटन दोनों दृष्टिकोण से महत्व है। पूर्व मध्य रेल के गया स्टेशन के पुनर्विकास की योजना बनाई गई है। पुनर्विकास के बाद गया स्टेशन पर यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी विश्वस्तरीय सुविधाएं मिलेंगी। रेल भूमि विकास प्राधिकरण ने गया स्टेशन के पुनर्विकास से जुड़े इस काम को पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड पर पूरा करने का फैसला किया है। गया स्टेशन पर 173 करोड़ रुपए खर्च करने की योजना है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *