bihar news: ये बिहार पुलिस है जनाब… पीड़ितों पर भी fir कर देती है

हाइलाइट्स:

  • ये बिहार पुलिस है जनाब!
  • पीड़ितों पर भी FIR कर देती पूर्वी चंपारण की पुलिस
  • फिर होती है मुस्तैदी से दिखावे की कार्रवाई
  • ढाका थाने की पुलिस पर उठे सुलगते सवाल

आभा सिन्हा, मोतिहारी:
बिहार पुलिस यूं तो अपनी नाकामी के चलते सुर्खियों में ज्यादा रहती है। लेकिन कई दफा इनकी मुस्तैदी देखने लायक होती है। पूर्वी चम्पारण के ढाका थाना के पुलिसवालों के बारे में तो पूछिए ही मत। जनाब, कभी-कभी तो ये इतने चुस्त दुरुस्त हो जाते हैं कि आरोपियों के साथ पीड़ितों पर भी FIR कर देते हैं। चौंकिए मत… ये बिल्कुल सच है।

ढाका थाने में पीड़ितों पर भी FIR
ढाका थाना क्षेत्र के चंदन बारा गांव में दबंगों की मारपीट के शिकार फोजैल अहमद पर भी FIR कर दी गई। जबकि उनके साथ हथियार दिखाकर इतनी मारपीट की गई कि वो अस्पताल में भर्ती हैं। हालत इतनी खराब कि ढाका रेफरल अस्पताल से बेहतर इलाज के लिए उन्हें मोतिहारी सदर अस्पताल भेजना पड़ा।

जमीन विवाद से जुड़ा है पूरा मामला
पूर्वी चम्पारण के ढाका थानान्तर्गत चन्दनबारा गांव निवासी फोजैल अहमद ने गांव के ही खुर्शीद आलम, राशिद उर्फ फूल बाबू आदि पर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए थाने में एफआईआर 271/21 कांड संख्या दर्ज कराई है। इसमें उन्होंने कहा है कि रविवार को इन दोनों लोगों ने रास्ते पर बह रहे पानी को बोरे में मिट्टी डालकर उसे बंद कर दिया। इसके बाद उनकी निजी जमीन में जबरन नाला डाल दिया गया।

Bihar News : पटना में आंधी-बारिश के कहर का लाइव वीडियो, देखते ही देखते पीपा पुल दो पाट में टूटा

जब फोजैल ने इसके लिए मना किया तो तौसीफ,आरिफ और आसिफ ने उन पर धारदार तलवार, लाठी, डंडे से हमला कर दिया। उनकी नीयत फोजैल को जान से मारने की थी। आरोप है कि उन्हें गंभीर रुप से जख्मी कर दिया गया। इसके बाद दबंगों उन्हें मरा हुआ समझकर जमीन पर फेंक चले गए। इसी बीच शोरगुल सुन निकले स्थानीय लोगों ने फोजैल को ढाका रेफरल अस्पताल पहुंचाया। यहां इलाज के बाद स्थिति को गंभीर देखते हुए उन्हें मोतिहारी सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया।
Covaxin for Kids : पटना एम्स में बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल शुरू, तीन को मिली पहली डोज… अब तक कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखा
पुलिस ने दर्ज कर दी दोतरफा FIR
अब देखिए पुलिस की मुस्तैदी… ढाका थाने में मामले में दोनों तरफ से प्राथमिकी दर्ज कर ली गई। हालांकि पुलिस दोनों पक्षों के बीच पहले से जमीन विवाद को मान रही है। पुलिस को आरोपी खुर्शीद आलम और राशिद उर्फ फूल बाबू के बारे पूरी जानकारी भी है। इलाके के लोगों का कहना है कि आरोपी खुर्शीद आलम और राशिद उर्फ फूल बाबू गांव के दबंग हैं। इनका पहले भी गांव में कई लोगों से विवाद हो चुका है। एक तरह से गांव मे इनकी दबंगई चलती है।

Muzaffarpur News : योगगुरु रामदेव पर मुजफ्फरपुर में परिवाद दायर, डॉक्टरों पर टिप्पणी को लेकर 7 जून को सुनवाई

ढाका थाने की पुलिस पर सुलगते सवाल
अब सवाल ये उठ रहा है कि जब दबंगों ने मारपीट की तो पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई करने के बदले पीड़ितों पर भी FIR दर्ज क्यों की? क्या ढाका थाने की पुलिस भी आरोपियों के पक्ष में काम कर रही है? अगर किसी की जमीन पर कोई जबरदस्ती दखल करे, उसके साथ मारपीट करे तो क्या पीड़ित पर भी FIR होनी चाहिए? बहरहाल, ऐसे ही कई सुलगते सवाल पूर्वी चंपारण की ढाका थाने की पुलिस पर खड़े हो गए हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *