हाइलाइट्स

  • लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप ने खुद को बताया कैप्टन
  • ‘मेरा नाम कैप्टन तेजप्रताप है लेकिन मैं कैप्टन नहीं लगाता हूं’
  • छात्र जनशक्ति परिषद की बैठक में तेज प्रताप का दावा

पटना
‘मेरे नाम के आगे कैप्टन लगता है। मेरा नाम कैप्टन तेजप्रताप है लेकिन मैं कैप्टन नहीं लगाता हूं।’ लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप ने खुद के बारे में नया खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि वो छोटे हवाई जहाज उड़ाते थे। छात्र जनशक्ति परिषद की मीटिंग के दौरान ये बातें कही।

तेज प्रताप नहीं ‘कैप्टन तेज प्रताप’
छात्र जनशक्ति परिषद की मीटिंग के दौरान तेज प्रताप कई बातों का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि ‘पॉलिटिक्स में आने से पहले हमारा जो बैकग्राउंड जो था, वो पायलट का था। हमने भारतीय वायुसेना में फॉर्म भरा था, मेरा सेलेक्शन भी हुआ था। बिहार फ्लाइंग इंस्टीट्यूट में दो साल और तीन साल का ट्रेनिंग होता है। हमने दो साल का ट्रेनिंग भी लिया है। छोटा वाला जहाज उड़ाया है हमने। cessna हवाई जहाज था। cessna नाम है। cessna 172। इंस्ट्रक्टर थे कैप्टन शिवप्रकाश। वहां पर ट्रेनिंग देने का काम करते थे। हवाई जहाज उड़ाते थे वहां। क्योंकि बचपन से हमको शौक था भारतीय सेना में जाने का। उसका मेरे पास आईडी कार्ड भी है मेरा। मेरा सब चीज है। मेडिकल भी हुआ था मेरा। सारा चीज रखे हुए हैं। मेरे नाम से पहले कैप्टन लगता था। कैप्टन तेज प्रताप, मगर लगाता नहीं हूं। बहुत लोगों को नहीं पता है, वहां जाइएगा। फ्लाइंग इंस्टीट्यूट है, वहां बहुत से पुराने लोग बता देंगे कि भैया यहां आते थे हवाई जहाज उड़ाने के लिए। हालांकि इसके बाद तेज प्रताप यादव मीडिया पर नाराजगी जाहिर किए।’

किसानों के लिए LP मूवमेंट
तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को LP मूवमेंट यानि लालू प्रसाद मूवमेंट चलाने का एलान किया। उन्होंने कहा कि जेपी आंदोलन की तरह एलपी आंदोलन चलाया जाएगा। इसके बारे में जेपी आवास में तय करेंगे कि कैसे आंदोलन को बढ़ाना है। इसके अलावा तेजप्रताप ने किसानों का साथ देने और जेल भरो अभियान चलाने की बातें कही। उन्होंने कहा कि लाठी खाने से नहीं डरेंगे, जो कार्यकर्ता घायल होंगे उनके इलाज के लिए डॉक्टरों की टीम बनाएंगे, जो घायलों का इलाज करेंगे। हम किसानों को उनका अधिकार दिला कर रहेंगे।

अपना संगठन, अपना झंडा
छात्र जनशक्ति परिषद की बैठक में तेज प्रताप ने कहा कि 11 अक्टूबर को हम शांति पूर्ण मार्च करेंगे। थाने से परमिशन लेकर ही शांति मार्च निकालेंगे। गांधी मैदान से खाली पैर जेपी के आवास चरखा समिति तक जाएंगे। इस दौरान कोई भी उपद्रव करेगा नहीं तो कमेटी को भंग कर देंगे। जेपी आवास से आंदोलन की अनुमति सरकार नहीं देगी। तो हो सकता है, घर से ही उठवा लें। इस दौरान किसी को भागना नहीं है। सभी सदस्यों को आई कार्ड दिया जाएगा। हम शांति से पैदल मार्च निकालेंगे। तेज प्रताप ने कहा कि संगठन (छात्र जनशक्ति परिषद) का झंडा बन कर आ गया है। गमछा और टोपी भी मंगवाया जा रहा है। इसके बाद गाड़ी में भी झंडा लगेगा।

धर्म कमेटी बनाएंगे तेज प्रताप
छात्र जनशक्ति परिषद की मीटिंग में तेज प्रताप ने कहा कि सरकार को सुनाने के लिए हम धमाका करेंगे। भगत सिंह ने असंबेली में बम फेंका था। हम बम नहीं फेंकेंगे, लेकिन सुनाएंगे बढ़िया से। उन्होंने कहा कि दुर्गा ने अर्जुन को धनुष, कृष्ण को चक्र दिया था, हम मां दुर्गा की आराधना कर उनसे शक्ति लेंगे। इस दौरान तेज प्रताप ने कहा कि हम सत्ता के लोभ के लिए नहीं बल्कि परिवर्तन के लिए बैठे हैं। शिक्षा, चिकित्सा कमेटी की तरह धर्म कमेटी भी बनाऊंगा।

सिर्फ छात्र जनशक्ति परिषद के लिए काम?
दरअसल आजकल RJD ने तेज प्रताप से किनारा कर लिया है। पार्टी के खिलाफ बगावत करने के बाद लालू प्रसाद भी उनसे नाराज बताए जा रहे हैं। पार्टी के किसी भी प्रोग्राम न तो वो शामिल हो रहे हैं ना ही उनका नाम लिया जा रहा है। उनके प्लानिंग से लग रहा है कि उन्होंने अपना अलग रास्ता अख्तियार कर लिया है। वो छात्र जनशक्ति परिषद को मजबूत करने के लिए पूरी स्ट्रैटजी बनाने में बिजी है।

Tej Pratap yadav : ‘मैंने हवाई जहाज उड़ाया है, नाम के आगे कैप्टन लगता था…’ तेज प्रताप का दावा



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *