– सीएलजी बैठक में विभिन्न मुद्दों पर हुई चर्चा

पोकरण. पुलिस थाना परिसर में सोमवार शाम सामुदायिक संपर्क समूह सीएलजी की बैठक पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम गोदारा की अध्यक्षता में आयोजित की गई, जिसमें आगामी ईद-उल-अजहा (बकरीद) के त्यौहार, कस्बे की कानून एवं शांति व्यवस्था, यातायात व्यवस्था को लेकर विचार विमर्श किया गया। थानाप्रभारी पदमपालसिंह ने बैठक में विचारणीय बिंदुओं पर प्रकाश डालते हुए क्षेत्र की कानून एवं शांति व्यवस्था की जानकारी दी। पुलिस उपाधीक्षक गोदारा ने कहा कि त्यौहार आपसी प्रेम, भाईचारे, सद्भाव के प्रतीक है। उन्होंने 21 जुलाई को बकरीद का त्यौहार शांति, आपसी भाईचारे, प्रेम, सद्भाव के साथ मनाने तथा कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखते हुए सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन की पालना करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि सरकार के निर्देशानुसार बकरीद के मौके पर सामुहिक रूप से ईदगाह अथवा एक स्थान पर एकत्र होकर नमाज अदा नहीं की जाएगी। उन्होंने मुस्लिम समाज के लोगों से घरों में ही रहकर इबादत करने, नमाज अदा करने तथा सरकार की गाइडलाइन व कोविड प्रोटोकोल की पालना करने की बात कही। बैठक को संबोधित करते हुए नगरपालिका अध्यक्ष मनीष पुरोहित ने कहा कि यह क्षेत्र आपसी भाईचारे व शांति के लिए पहचाना जाता है। ईद के मौके पर भी शांति व सद्भाव बनाए रखने, सोशल मीडिया आदि पर किसी भी तरह की गलत टिप्पणी नहीं करने का आह्वान किया। सीएलजी सदस्यों ने कस्बे में बंद पड़े सीसीटीवी कैमरों को शुरू करने की मांग की। जिस पर पालिकाध्यक्ष पुरोहित ने शीघ्र ही विद्युत कनेक्शन करवाने व कैमरों को सुचारु करने का भरोसा दिलाया। इस मौके पर एडवोकेट फिरोजखां मेहर, नगरपालिका के सहायक अभियंता अंजुमन अंसारी, रवि सोनी, गणपतराम गर्ग, अशोक दैया, अयूबखां, नासिर अंसारी, नाथूसिंह बीलिया सहित लोग उपस्थित रहे।
बुलट के पटाखों से दिलाएं राहत
बैठक में गोपालसिंह, सत्यनारायण, रेंवताराम सहित सीएलजी सदस्यों ने बताया कि कस्बे में कई युवा बुलट मोटरसाइकिल लेकर घूमते है। उनकी ओर से गैरकानूनी रूप से साइलेंसर बदलवाकर पटाखे वाले साइलेंसर लगवाए गए है। तेज गति के साथ गली मोहल्लों व मुख्य मार्गों से निकलते हुए उनकी ओर से तेज आवाज में पटाखे छोड़े जाते है। जिससे विशेष रूप से वृद्धजनों व बच्चों को खासी परेशानी होती है। दोपहर व रात्रि के समय तेज आवाज के कारण घरों में सो रहे वृद्धों व बच्चों की नींद खराब हो जाती है। उन्होंने बताया कि ह्रदय के मरीजों के लिए तेज आवाज के पटाखे घातक है। उन्होंने कस्बे में ऐसे युवाओं के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई करने तथा बुलट व साइलेंसर सीज करने की मांग की। जिस पर पुलिस उपाधीक्षक ने उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed