पाबंदियों के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए सज गया भव्य मंच, कार्यक्रम में पहुंचे 200 से ज्यादा लोग

हाइलाइट्स:

  • ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर चंबल संभाग को दिए पांच एंबुलेंस
  • कोरोना की पाबंदियों के बीच सिंधिया के लिए सच गया मंच
  • कार्यक्रम के दौरान कोविड नियमों की उड़ी धज्जियां
  • सिंधिया सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मंच से करते रही अपील, समर्थक नहीं माने

ग्वालियर
बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के कार्यक्रम में कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ी हैं। कार्यक्रम के दौरान मंत्री से लेकर संतरी तक कोविड नियमों को भूल गए हैं। पूरे प्रदेश में अभी कोरोना की वजह से ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन पर पाबंदी है। सिंधिया ने ग्वालियर में एंबुलेंस वितरण का कार्यक्रम आयोजन किया था। कार्यक्रम की तस्वीरें सामने आने के बाद सवाल उठ रहे हैं कि जिम्मेदार लोग ही ऐसे करेंगे तो फिर आम लोग क्या करेंगे।

ग्वालियर में एंबुलेंस वितरण समारोह के दौरान राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, शिवराज सरकार के तीन मंत्री, पूर्व मंत्री और सांसद कोविड गाइड लाइन की धज्जी उड़ाते नजर आए हैं। जिले में रूल ऑफ सिक्स लागू है। मतलब एक साथ 6 लोग से ज्यादा मिलने पर धारा 144 का उल्लघंन माना जाता है। कार्यक्रम के स्टेज पर ही 10 लोग शान से बैठे थे। इसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया, ग्वालियर सांसद विवेक शेजवलकर, शिवराज सरकार के तीन मंत्री प्रद्युम्न सिंह, ओपीएस भदौरिया, भारत सिंह शामिल हैं।

एमपी में ऊर्जा मंत्री की भी नहीं सुनते अधिकारी, झूठ सामने आने पर तोमर ने लगाई डांट
इसके साथ ही जिले में किसी भी राजनीतिक, धार्मिक या अन्य कार्यक्रम पर रोक है। इसके बाद भी यह कार्यक्रम हो गया। सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे। पल-पल सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ती नजर आईं। तीन दिन के अंचल दौरे पर आए राज्यसभा सांसद और BJP नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कोरोना संक्रमण काल में लापता होने और गायब होने के आरोप लगते रहे हैं। यह आरोप कांग्रेस ने लगाए थे। साथ ही यह भी कहा था कि अनलॉक होते ही सिंधिया ग्वालियर में अपनी जनसेवा करने कूद पड़ेंगे। लगभग वैसा ही होता दिख रहा है।

पूर्व सीएम कमलनाथ की तबीयत में सुधार, दो दिन से नहीं आया है बुखार
शुक्रवार को ग्वालियर संभाग को 5 एंबुलेंस देने के लिए एक कार्यक्रम किया गया, लेकिन यह कार्यक्रम ने बता दिया कि सारी पाबंदियां और नियम सिर्फ आम लोगों, बाजारों और व्यापारियों पर लागू होते हैं। शुक्रवार दोपहर मोतीमहल के कंट्रोल कमांड सेंटर में 5 एंबुलेंस दान देने के लिए भव्य मंच सज गया। जिले में संक्रमण को रोकने रूल ऑफ सिक्स लागू है। इसके बावजूद करीब दो सौ लोग कार्यक्रम में पहुंच गए।

कोविड-19 के चलते जान गंवाने वाले कर्मचारियों के परिजनों को आठ दिन के अंदर मिलेगी सरकारी नौकरी, मंत्री ने दिए निर्देश
साथ ही कार्यक्रम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां भी उड़ रही थीं। हर लाइन में 8 से 10 लोग बैठे हुए थे। रूल ऑफ सिक्स का तो पालन ही नहीं हो रहा था। वहीं, सिंधिया भी मंच से सोशल डिस्टेंस्टिग बनाएं रखने की अपील करते रहे लेकिन वो काम नहीं आई। वहीं, कांग्रेस के आरोप पर सिंधिया ने कहा है, कांग्रेस तो सिर्फ आपदा में अवसर ढूंढने का काम कर रही है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *