गोरखपुर
कोरोना के बढ़ते मामले के बीच उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के ब्लड बैंक में खून की कमी होने लगी। जिसके बाद जिले के कई पुलिसकर्मियों ने अपनी दरियादिली दिखाते हुए एक मैसेज पर खून देकर कई जिंदगी बचाई है। महज दस दिन के भीतर जिले के चार पुलिसकर्मियों ने जिंदगी और मौत से जूझ रहे लोगों को ब्लड डोनेट कर जान बचाई है।

नवजात को ब्लड डोनेट कर बचाई जान
जिले के जंगल डुमरी निवासी सुधीर वर्मा इंडियन बैंक में फील्ड ऑफिसर के पद पर तैनात हैं। 25 मई को उनकी पत्नी ने एक बच्ची को जन्म दिया। जिसके बाद डॉक्टर्स ने बच्ची के शरीर के ब्लड को चेंज करने की सलाह दी। इसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर मदद की गुहार लगाई। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह मैसेज शाहपुर थाना क्षेत्र में पीआरवी 0321 में तैनात सब कमांडर यशपाल यादव तक पहुंच गई और उन्होंने बिन देर किए बच्ची को ब्लड डोनेट कर जान बचाई।

ऐसे ही शाहपुर थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर अनूप कुमार तिवारी ने शहर के कोतवाली क्षेत्र में स्थित सावित्री हॉस्पिटल में एडमिट कैंसर पीड़ित सुनीति श्रीवास्तव (56) को फौरन ब्लड डोनेट कर जान बचाई। महज दस दिन पहले शाहपुर थाने के पीआरवी में तैनात शिवाबुंज पटेल ने गोपालगंज बिहार की एक महिला को ब्लड डोनेट किया। इसी तरह 3 जून को बड़हलगंज निवासी राजू अली अहमद के पिता जहुर आलम जोहरा हास्पिटल में भर्ती थे। उनको तत्काल ब्लड की आवश्यक्ता थी। सूचना मिलने के तुरन्त बाद उनि विशाल राय द्वारा जोहरा हास्पिटल बड़हलगंज पहुंचकर रक्तदान किया गया।

एक ही थाने के तीन पुलिसकर्मी
इन सभी पुलिसकर्मियों में से तीन दारोगा अनूप तिवारी, शिवाबुंज पटेल, यशपाल यादव यह तीनों पुलिसकर्मी शाहपुर थाना क्षेत्र में तैनात हैं। हालांकि, दारोगा अनूप तिवारी को नौसढ़ चौकी इंचार्ज बना दिया गया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *