प्रतापगढ़. सालमगढ़. निकटवर्ती आंबीरामा ग्राम पंचायत के जूनाखला गांव में पांच अनाथ बच्चों के सामने रोजी-रोटी के लाले पड़ गए है। ये पांच बच्चे टूटी-फूटी झोंपड़ी में रहने को मजबूर है। इन बच्चों की सहायता के लिए दलोट पंचायत समिति सदस्य गीता निनामा ने जिला कलक्टर, उपखंड अधिकारी एवं विकास अधिकारी को पत्र लिखा है।

-=–=
पहले पिता का साया छीन गया, अब मां ने भी छोड़ा साथ
-नहीं मिल पा रहा पालनहार योजना का भी लाभ
प्रतापगढ़. सालमगढ़. निकटवर्ती आंबीरामा ग्राम पंचायत के जूनाखला गांव में पांच अनाथ बच्चों के सामने रोजी-रोटी के लाले पड़ गए है। ये पांच बच्चे टूटी-फूटी झोंपड़ी में रहने को मजबूर है। इन बच्चों की सहायता के लिए दलोट पंचायत समिति सदस्य गीता निनामा ने जिला कलक्टर, उपखंड अधिकारी एवं विकास अधिकारी को पत्र लिखा है। जिसमें असहाय एवं अनाथ बच्चों की स्थिति के बारे में बताया गया है। जिसमें बताया गया कि गांव जूनाखला में 2 साल पहले कैलाश मीणा की मृत्यु हो गई थी। उसके 5 बच्चे है। जिनका अब तक पालन.पोषण उनकी मां द्वारा किया जा रहा था। लेकिन कुछ समय पहले बच्चों की मां भी उन्हें सोता हुआ छोडक़र कहीं अन्यत्र गई है। ऐसे में बच्चे अब खाने-पीने के लिए भटक रहे हैं। जिनको आज खाने.पीने की समस्या हो रही है। वह अपना पालन पोषण नहीं कर पा रहे हैं। बच्चों के पड़ोसी घनश्याम ने बताया कि उनकी मां ने गत समय में उनका पालनहार योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करवाने की बहुत कोशिश की। परंतु कागजी कार्रवाई जटिल होने के कारण कागजी कार्रवाई पूर्ण ना होने के कारण उनकी पालनहार योजना में रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाया। जिससे उन्हें पालनहार योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। ऐसे में भामाशाहों की दरकार है।

=–=-
कोलवी में बेसहारा बच्चों की मदद का सिलसिला जारी
प्रतापगढ़. जिले के गांव कोलवी में बेसहारा बच्चों की मदद के लिए भामाशाह आगे आ रहे हैं। इस क्रम में शुक्रवार को भारतीय जीवन बीमा निगम के प्रशासनिक अधिकारी आभा लाहोटी अपने परिवार के साथ कोलवी गांव पहुंची। जहां उन्होंने अपने पति राजेन्द्रप्रसाद लाहोटी की दूसरी पुण्यतिथि पर गरीब बेसहाय बच्चों को कपड़े, बिस्तर व राशन सामग्री प्रदान की। इस दौरान प्रवीणसिंह चूंडावत, मनीष शर्मा, उपसरपंच दिनेशकुमार शर्मा भी मौजूद रहे।
………………………टांडा रोड बना तलैया
-बारिश में जगह-जगह भरे गड्ढे
चूपना. चूपना से भावगढ़ वाया टाण्डा रोड की हालत इकाफी खसराब हो गई है। यहां सार्वजनिक निर्माण विभाग की अनदेखी के चलते यहांं तलैया बन गया है। जिससे पैदल चलना भी परेशानी का सबब बना हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि यहां रोड हादसों को आमंत्रण दे रहा है। रोड पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। बरसात का पानी से भरे कर तालाब बन गए हैं। छोटे वाहन के टायर भी पानी में डूब जाते है। कोई बड़ा वाहन गुजरता है तो पानी के फव्वारे उड़ाता हुआ चलता है। यह एक अंतरराज्यीय रोड है। जो की राजस्थान तक ही बहुत खराब है।
………….







Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *