जयपुर, रामस्वरूप लामरोड़
हत्या, लूट, डकैती और मारपीट के मामलों में वांछित एक बदमाश को जब पुलिस ने चारों तरफ से घेर लिया ,तो उसने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। मामला जयपुर जिले के कोटपूतली थाना इलाके का है, जहां मंगलवार देर रात आरोपी रूपचंद उर्फ सुखा गुर्जर ने अवैध देशी कट्टे से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या से पहले पुलिस की टीम ने एक खेत में आरोपी को चारों तरफ से घेर लिया था। पुलिस की गिरफ्तारी के डर से उसने आत्महत्या कर ली।

राजस्थान के शिक्षा मंत्री का बयान, कहा – जहां स्कूलों में महिला स्टॉफ, वहां होते है अधिक झगड़े

पुलिस से बचने के लिए बाजरे के खेत में छिप गया था रूपचंद गुर्जर
मिली जानकारी के अनुसार झुंझुनू जिले के खेतड़ी थाना क्षेत्र के गांव दुधवा निवासी 23 वर्षीय रूपचंद और सुखा गुर्जर मंगलवार शाम को बानसूर रोड से कोटपूतली की तरफ आ रहा था। मुखबिर के जरिए पुलिस को यह सूचना मिल गई थी कि 5000 रुपये का इनामी बदमाश रूपचंद जयपुर ग्रामीण के कोटपूतली क्षेत्र में आ रहा है। इस पर कोटपुतली थाने के सहायक उपनिरीक्षक राकेश कुमार और उनकी टीम ने बानसूर रोड पर नाकाबंदी की। इस दौरान सफेद रंग की स्कार्पियो में सवार आरोपी रूपचंद उर्फ सुखा गुर्जर चतुर्भुज गांव से नांगल पंडितपुर की ओर चला गया।

पुलिस करने लगी पीछा,तो गाड़ी छोड़ खेतों की ओर भागा बदमाश
इसके बाद पुलिस ने बदमाश की तलाशी के लिए नांगल पंडितपुरा की ओर जाकर आरोपी का पीछा किया। पुलिस को पीछा करते देख रूपचंद अपनी स्कॉर्पियो गाड़ी को कच्चे रास्तों में ले गया और फिर गाड़ी को छोड़कर खुद बाजरे की खड़ी फसल के खेत में घुस गया। पुलिस की टीम ने खेत को चारों तरफ से घेर लिया और बदमाश की तलाशी शुरू की। इसी दौरान पुलिस टीम को फायर की आवाज सुनाई दी। इस पर सहायक उप निरीक्षक राकेश कुमार ने थाना प्रभारी और उच्च अधिकारियों को घटना की जानकारी दी। बाद में कोटपूतली थाना प्रभारी, डिप्टी एसपी सहित तमाम अधिकारी मौके पर पहुंचे।

जूनियर इंजीनियर निकला रीट पेपर लीक का मास्टरमाइंड, बत्तीलाल ने इसी से खरीदा था पेपर

खेतों में पुलिस कर रही थी तलाशी, फायर की आवाज आई
पुलिस टीमों ने बाजरे की खेत को चारों तरफ से घेर कर ड्रैगन लाइट और वाहनों की लाइट से सघन तलाशी शुरू की। इस दौरान फायर की एक और आवाज सुनाई दी। पुलिस ने अंदर जाकर देखा तो वांटेड बदमाश रूपचंद उर्फ सुखा गुर्जर लहूलुहान पड़ा मिला। मौके पर ही डॉक्टर और एफएसएल की टीम को बुलाया गया। जांच में डॉक्टरों ने रूप चंद गुर्जर को मृत घोषित कर दिया।

शराब ठेकेदार की हत्या में वांछित था सुखा गुर्जर
झुंझुनू जिले के खेतड़ी थाने में रूपचंद उर्फ सुखा गुर्जर के खिलाफ चार मुकदमे दर्ज हैं। मारपीट, लूट, डकैती और हत्या के प्रकरण के साथ ही अवैध हथियार रखने का मामला भी दर्ज है। खेतड़ी पुलिस के मुताबिक 27 मई 2021 को शराब कारोबारी महेंद्र गुर्जर की कुछ बदमाशों ने हत्या कर दी थी, जिसमें रूपचंद गुर्जर भी शामिल था। हत्या के इस मामले में अन्य आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके थे लेकिन रूपचंद फरार था। इसी वजह से झुंझुनूं एसपी द्वारा आरोपी रूपचंद पर 5000 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था।

दिलावर के वो बयान, जो बढ़ा देते हैं बीजेपी की धड़कनें, दिग्गज नेता के शब्द क्यों बने पार्टी के लिए सिरदर्द?

सोशल मीडिया पर अवैध हथियारों के साथ फोटो डालकर फैलाता था दहशत
रूपचंद और सुखा गुर्जर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव था। सुखा शूटर नाम ने बने अपने फेसबुक पेज पर वह आए दिन हथियारों के साथ खुद की फोटो पोस्ट करता था। कुछ दिन पहले सुखा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि “आप कुछ दिन और बेखबर रहिए, हमारा परिचय शहर खुद देगा”। इसके साथ 5 बदमाशों सहित हथियार लहराते हुए एक फोटो भी फेसबुक पेज पर अपलोड की थी। इस तरह से दहशत फैलाकर सुखा और उसके साथी आपराधिक वारदातों को अंजाम देते थे।

डोटासरा ने महिला शिक्षकों को लेकर दिया बयान, कहा- वहां प्रिंसिपल को लेनी पड़ती है सेरेडॉन



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed