सुमित शर्मा, कानपुर
एसटीएफ ने नवाबगंज पुलिस के साथ मिलकर 50 हजार के इनामी बदमाश को अरेस्ट किया है। बीते दो साल पहले शमीम मुठभेड़ में पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। कानपुर पुलिस के लिए शमीम चैलेंज बना हुआ था। इनामी बदमाश शमीम नेपाल से चरस तस्करी करके लाता था और कानपुर समेत आसपास के जिलों में सप्लाई करता था। एसटीएफ ने शमीम के पास से 3 किलो 800 ग्राम चरस बरामद की है।

एसटीएफ को सूचना मिली थी कि शमीम नवाबगंज थाना क्षेत्र स्थित आजाद नगर बस डिपो के पास आने वाला है। सोमवार तड़के एसटीएफ ने नवाबगंज पुलिस के साथ मिलकर घेराबंदी की। शमीम बस डिपो के पास पहुंचा तो पुलिस ने उसे दबोच लिया। पुलिस ने शमीम के पास से एक देसी तमंचा और भारी मात्रा में चरस बरामद की है।

कानपुर से लखनऊ तक दर्ज हैं 19 मुकदमे
शमीम बेहद शातिर अपराधी है। उस पर कानपुर से लेकर लखनऊ के विभिन्न थानों में 19 मुकदमे दर्ज हैं। शमीम 2004 में आर्म्स ऐक्ट में पहली बार जेल गया था। जेल से छूटने के बाद शमीम चरस की तस्करी करने लगा था। चरस तस्कर शमीम का नेटवर्क कानपुर के साथ ही यूपी के कई जिलों में फैला है। शमीम 3 किलो 800 ग्राम चरस नेपाल से खरीदकर लाया था।

UP में अपना धंधा शुरू करने पर मिलेगा 25 लाख तक का अनुदान, जानें- कैसे होगा आवेदन
पुलिस मुठभेड़ में चकमा देकर भागा था
दो साल पहले शमीम अपने साथियों सोहराब और जमाल अहमद के साथ जा रहा था। इसी दौरान गंगा बैराज पर उसकी पुलिस के साथ मुठभेड़ हो गई थी। जिसमें शमीम और उसका साथी सोहराब पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए थे। वहीं, जमाल अहमद के पैर में गोली लगी थी। मुठभेड़ में फरार हो जाने के बाद पुलिस ने उसपर 50 हजार का इनाम रखा था।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *