अर्जुन अरविंद, कोटा
जयपुर ग्रेटर नगर निगम के बीवीजी कंपनी घूसकांड में आरएसएस क्षेत्रीय प्रचार निम्बाराम के खिलाफ एसीबी की ओर से केस दर्ज करने के बाद से बीजेपी हमलावर है। बीजेपी के महामंत्री मदन दिलावर पार्टी की ओर से सूबे की कांग्रेस सरकार पर लगातार हमलावर हो रहे हैं। शनिवार को तो दिलावर ने हद ही पार कर दी। दिलावर के बोल बिगड़ गए और उन्होंने शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा अपशब्द कह डाले।


दिलावर ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मंत्री मंडल के दो मंत्री गोविंद सिंह डोटासारा और प्रतापसिंह खाचरियावास के लिए अपशब्द बोलते हुए हमला बोला। मदन दिलावर ने कहा कि ये आटा चोर लोग हैं। शिक्ष मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा बच्चों का मिडे मिल खा गए, बच्चों का दूध छीन लिया। वहीं परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास जो डीटीओ आरटीओ के माध्यम से पैसे खाते हैं। इन दोनों को दुनिया जाती हैं। पैसे उगाकर करोड़ों रुपये से घर भर रहे हैं। सीएम पैसे खाकर भी जांच आगे नहीं बढ़ाते हैं क्योंकि एसीबी ही सीएम के अंडर में हैं।

भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं शिक्षा मंत्री डोटासरा व परिवहन मंत्री खाचरियावास: दिलावर
निम्बाराम को लेकर बीजेपी एक के बाद एक कांग्रेस पर आरोप लगा रही हैं। कांग्रेस पर पलटवार करने का मोर्चा बीजेपी महामंत्री व रामगंजमंडी भाजपा विधायक मदन दिलावर ने संभाल रखा हैं। दिलावर ने आरएसएस के क्षेत्रीय प्रचार निम्बाराम की ओर इशारा और बचाव करते हुए कहा कि राजस्थान के श्रेष्ठ लोगों की छवि धूमिल करने कांग्रेस ओछे हथकंडे अपना रही हैं। जबकि राजस्थान सरकार के दो मंत्री, शिक्षा मंत्री डोटासरा व परिवहन मंत्री खाचरियावास आकंठ भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं।

राजस्थान की जनता जानती हैं कि हर डीटीओ और आरटीओ से यातायात मंत्री की बंदी हैं। परिवहन अधिकारियों के पास एसीबी ने डेढ करोड़ नकद पकड़े थे। लेकिन दबाव के चलते एसीबी जांच नहीं कर रही हैं। हर माह खाचरियावास से बड़ी राशि जाती हैं। करोड़ों रुपये जाते हैं। सीएम ने क्यों जांच नहीं की, कहां गए सीएम।

‘पायलट को छोड़कर सब गहलोत के चरणों में’
दिलावर ने कहा कि पायलट को छोड़कर सब अशोक गहलोत के चरणों में लेटे हुए हैं। सीएम की ओर इशारा करते हुए दिलावर ने कहा कि परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास को आपने छोड़ दिया क्योंकि खाचरियावास और परिवहन अधिकारी मुख्यमंत्री को करोड़ों रुपए पहुंचाते हैं।

राजस्थान बीजेपी महामंत्री मदन दिलावर



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *