मनीष सिंह, मिर्जापुर
यूपी के विंध्याचल में मंगलवार की भोर से नवरात्र मेला शुरु हो गया। नवरात्र के पहले दिन ही कोविड पर आस्था का जनसैलाब भारी पड़ा , ना ही सोशल डिस्टेंस दिखा और ना ही लोगो मे कोरोना का भय,सुबह से लोग लम्बी लम्बी लाइन में लगकर मां की एक झलक पाने को बेताब देखे गए । जिला प्रशासन के सारे दावे फेल साबित हुऐ ।

कोरोना पर आस्था भारी, पहले दिन उमड़ा सैलाब
मंगलवार की भोर से नवरात्र की शुरुवात हो गई, सुबह से लोग लम्बी लम्बी लाइन पर लगकर अपनी बारी का इंतजार करते देखे , मंदिर परिसर के आसपास हर तरफ मां के जयकारों से विंध्य धाम गूंज रहा था, बच्चे हो या बूढे सभी लोग मां के दर्शन करने को बेताब देखे गए।

प्रशासन के दावे हुए फेल
कोरोना की भयावहता को देखते हुए जिला प्रशासन ने मंदिर में दर्शन के लिए कई नियम और कानून बनाए थे, जोकि फेल साबित हुए, न तो भक्तों के पास कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट देखने को मिली और न ही सोशल डिस्टेंस भी, देखने को मिली तो केवल आस्था।

क्या थे जिला प्रशासन के दावे
जनपद में नाइट कर्फ्यू रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू होने के कारण नवरात्र मेला में भी मंदिर और दर्शन पूजन पूरी तरह से बंद रहेगा।सिर्फ सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक ही दर्शनार्थी मंदिर में दर्शन पूजन कर सकते है। वह भी एक बार मे 5 लोग ही मन्दिर जा सकेंगे जिसके पास कोविड की निगेटिव रिपोर्ट होगी ,उसी को ही दर्शन का मौका दिया जाएगा।

garima-sharma

रात में मन्दिर बन्द होने के कारण उमड़ी भीड़
विंध्याचल निवासी शानिदत्त पाठक ने कहा कि प्रशासन ने तमाम बंदिशें लगाई थी उसके बाद भी सुबह से भक्तों की भीड़ टूट पड़ रही है ,साथ ही बताया कि नाईट कर्फ्यू के कारण रात में दर्शन बन्द है इसलिए ही इतनी भीड़ देखने को मिल रही है ।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *