निर्मल राजपूत, मथुरा
यूपी के मथुरा में तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने और क्षेत्रीय किसानों की समस्याओं को लेकर सोमवार को भारतीय किसान यूनियन ने एक्सप्रेस-वे के मांट टोल प्लाजा पर धरना दिया। बारिश होने के बावजूद बड़ी संख्या में किसान शामिल हुए। किसानों ने एक्सप्रेस-वे पर बलदेव कट बनाने की मांग करने के साथ ही तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस-प्रशासन के अफसर पहुंच गए। किसानों ने अधिकारियों को ज्ञापन सौंपने के साथ ही मांगों को 10 दिन के अंदर पूरा करने का अल्टीमेटम जिला प्रशासन को दिया है।

हाई कोर्ट ने भी जेपी ग्रुप को मुआवजा देने के कर रखे हैं आदेश
भाकियू जिलाध्यक्ष राजकुमार तोमर के नेतृत्व में सैकड़ों किसान अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना देने के लिए मांट टोल प्लाजा पहुंच गए। किसानों ने कहा कि मथुरा और आगरा क्षेत्र के किसानों की एक्सप्रेस-वे के लिए अधिग्रहित की गई जमीन का अतिरिक्त मुआवजा उन्हें दिया जाए।

राजकुमार तोमर ने कहा कि एक्सप्रेस-वे सर्विस रोड बनाए जाने साथ ही दोनों तरफ बनी नालियों को भी साफ कराया जाए। किसानों द्वारा एक्सप्रेस वे पर धरने की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस और प्रशासनिक अफसर पहुंच गए। अधिकारियों ने किसानों से बातचीत कर उन्हें समझाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि हाई कोर्ट ने भी जेपी ग्रुप को 64.7 प्रतिशत मुआवजा देने के आदेश किए हुए हैं। जेपी ग्रुप कोर्ट के आदेशों को नहीं मान रहा है।

लखनऊ के मेदांता में भर्ती आजम खान, डॉक्टर बोले- सेहत में हो रहा सुधार
किसानों ने दिया प्रशासन को 10 दिन का अल्टीमेटम
इस पर किसानों ने अधिकारियों को एक एक ज्ञापन सौंपा और अपनी मांगों को पूरा करने के लिए प्रशासन को 10 दिन का अल्टीमेटम दिया है। जिलाध्यक्ष राजकुमार तोमर ने कहा है कि यदि 10 दिन में हमारी मांगें पूरी नहीं हुईं तो मांट टोल प्लाजा पर किसान चक्का जाम करेंगे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed