आट्र्स एवं एंटरटेनमेंट की श्रेणी में हासिल किया यह अवार्ड, इससे पहले लॉस एंजिल्स में 2019 में वल्र्ड चैम्पियनशिप ऑफ परफार्मिंग आर्टस में जीते थे 5 अवार्ड, जीता गोल्डकोस्ट वूमन ऑफ द ईयर अवार्ड

राधेश्याम शर्मा @ मेड़ता सिटी (नागौर) . भारतीय समुदाय की महिलाएं पूरे विश्व में देश का नाम रोशन कर रही है। ऐसी ही गोल्ड कोस्ट में रहने वाली भारतीय आस्ट्रेलियन समाज की डॉ. आरती बजाज है, जो मूल रूप से नागौर के मेड़ता सिटी की है। बीते 5 सालों से आस्ट्रेलिया में आरती का नाम भारतीय व आस्ट्रेलियाई समाज की ओर से बड़े ही गर्व से लिया जा रहा है, इसकी वजह यह है, कि आरती उन चुनिंदा आर्टिस्ट में शामिल है जो कई नेशनल और इंटरनेशनल अवार्ड जीत चुकी है।

आरती ने दो दिन पहले ही गोल्डकोस्ट शहर में वूमन ऑफ द ईयर अवार्ड जीतकर एकबार फिर भारत का मान बढ़ाया है। मेड़ता के भंवरलाल बजाज की पुत्रवधु डॉ. आरती पवन बजाज ने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया में गोल्डकोस्ट वूमन ऑफ द ईयर अवार्ड जीता है। इस अवार्ड में 7 अलग-अलग श्रेणियों को शामिल किया गया था, जिसमें आट्र्स एंड एंटरटेनमेंट श्रेणी में आरती बजाज ने अंतिम तीन में जगह बनाई और उसके बाद गोल्डकोस्ट वूमन ऑफ द ईयर का खिताब अपने नाम किया। दरअसल आरती यहां पर आट्र्स के क्षेत्र में भी कार्य कर रही है। वाइल्ड ड्रीमर प्रॉडक्शन और नाइन एक्सप्रेशनंस जैसी कंपनियों के जरिए आरती ने भारतीय और आस्ट्रेलियन समाज की महिलाओं को आट्र्स से जोड़ा है।

अमरीका में दुनिया को दिखाया था मीरा का ‘दिव्य प्रेम’

आस्ट्रेलिया में पेशे से फिजियोथैरेपिस्ट व सोनोग्राफर आरती अपने दो बच्चों को भी संभालती है। मगर इसके अलावा वह जो करती है, वो वाकई में अद्भुत है। वह भारतीय आस्ट्रेलियन समाज की महिलाओं को साथ लेकर रंगमंच के एक सफर पर निकल पड़ी है। आरती का आठ साल की उम्र से ही कला के प्रति अनूठा लगाव है। यही वजह है, कि आज वह एक ऐसी आर्टिस्ट है, जो परफार्मिंग आर्ट के ओलम्पिक के नाम से जाने जाने वाले ‘वल्र्ड चैम्पियनशिप ऑफ परफार्मिंग आटर््स’ में एक, दो नहीं बल्कि 5-5 अवार्ड जीत चुकी है। जुलाई 2019 में अमेरिका के हॉलीवुड/लॉस एंजिल्स में हुए परफार्मिंग के ओलम्पिक में आरती ने आट्र्स के जरिए दुनिया को मीरा के ‘दिव्य प्रेम’ यानी कृष्ण भक्ति के दर्शन कराए थे।

आस्ट्रेलिया डे अवार्ड भी जीत चुकी है आरती
इससे पहले आरती बजाज गोल्डकोस्ट में आस्ट्रेलिया डे अवार्ड भी जीत चुकी है। हर साल 26 जनवरी को आयोजित होने वाले कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को आस्ट्रेलिया डे अवार्ड दिया जाता है। आरती आस्ट्रेलिया में हार्ट ऑफ वुमन अवार्ड भी जीत चुकी है।

यूनेस्को फेस्टिवल में कर चुकी प्रतिनिधित्व
आरती ‘भरतनाट्यम’ नृत्य भी करती है। भरतनाट्यम में मास्टर्स की डिग्री हासिल की है। नृत्य नाटिका के जरिए आरती ने विश्व पटल पर भक्त शिरोमणि मीरा बाई की भगवान श्रीकृष्ण के प्रति भक्ति ‘दिव्य प्रेम’ को दिखाया है। आरती 2004 में कनाडा में हुए यूनेस्को के अंतरराष्ट्रीय फेस्टिवल में ‘भरतनाट्यम’ पर प्रस्तुति देकर भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी है। इससे पहले वह इंडिया में भी कई नेशनल और स्टेट लेवल कंपिटिशन जीत चुकी है।















Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed