मिर्जापुर
पंचायत चुनाव के अंतर्गत जिला पंचायत चुनाव में मंगलवार की देर शाम जारी हुए परिणाम के अनुसार बीजेपी को मात्र 5 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा है, यह हाल तब है जबकि जिलें में बीजेपी के एक मंत्री और 3 सांसद के साथ 4 विधायक भी है। तो वहीं सपा बेहतर प्रदर्शन करने में सफल रही है और 11 सीटों पर जीत दर्ज की है ,हालांकि समाजवादी पार्टी के कई बड़े चेहरों को हार का सामना जरूर करना पड़ा है। दूसरी तरफ जिला पंचायत अध्यक्ष पर नजर गड़ाए पूर्व एमएलसी और बाहुबली विनती सिंह भी मात्र एक सीट जिताने में ही कामयाब हो सकें हैं।

बीजेपी को मिली 4 सीट तो सपा को 11 निर्दलीय को 14
मिर्जापुर में हुए पंचायत चुनाव में बीजेपी को जहां करारा धक्का लगा है 44 सीटों में मात्र 5 सीट पर ही जीत दर्ज कर सकी है तो वहीं समाजवादी पार्टी ने 11 सीटों पर कब्जा जमाने मे कामयाब हुई है। इसके अलावा निर्दल प्रत्याशियों ने भी कई बड़े चेहरों को हराकर उनके सपनों को चकनाचूर करते हुए 14 सीटों पर कब्जा जमाया है।

AssignmentImage-113320331-1620148035

सपा ने किया बेहतर प्रदर्शन तो बाहुबली विनीत सिंह की प्रतिष्ठा बची
सपा की बात करें तो उसने बेहतर प्रदर्शन किया है हालांकि पार्टी के जिलाध्यक्ष देवीप्रसाद चौधरी और उनके परिवार को हार का सामना करना पड़ा है , बीजेपी की तरफ से सभी बड़े चेहरे हार गए है ,हाल यह रहा कि बीजेपी के जिलाध्यक्ष ब्रजभूषण सिंह का गांव सिटी वार्ड नम्बर 4 सीट के अंतर्गत आता है वह भी हार गए है।

बीजेपी के कई बड़े चेहरे को करना पड़ा हार का सामना
यही नही बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह के लिए प्रतिष्ठा का विषय बनी हलिया वार्ड नम्बर 4 से मनीराम कोल भी हार गए है । तो वहीं अपनादल एस भी मात्र 4 सीटों पर ही विजय हासिल कर सकी है , बाहुबली विनीत सिंह अपने दो समर्थकों को चुनाव लड़वा रहे थे लेकिन एक ही सीट जिताने में कामयाब हो सके है।

44 हैं सदस्य के पद 2 पंचवर्षीय से बाहुबली विनीत सिंह के कब्जे में था अध्यक्ष पद
मिर्जापुर जिला पंचायत की बात करें तो जिलें के 12 व्लाक में 44 सदस्य के पद है , इस बार जिला पंचायत अध्यक्ष का पद 25 साल के बाद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हुआ है ,पिछले 2 पंचवर्षीय से यह सीट वाराणसी के निवासी पूर्व एमएलसी बाहुबली विनीत सिंह के कब्जे में रहीं है, यहां से विनीत सिंह की पत्नी प्रमिला सिंह अध्यक्ष रही है ।

‘हार का करेंगें मूल्यांकन’
हालांकि बीजेपी के जिला चुनाव प्रभारी गंगासागर दुबे का कहना है कि हमने पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ताओं को टिकट दिया था,लेकिन धनबल और बाहुबल के आगे हमे हार का सामना करना पड़ा, इसका हम लोग मूल्यांकन जरूर करेंगें।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *