हाइलाइट्स

  • बीजेपी और कांग्रेस के प्रत्याशियों का हो रहा विरोध
  • अपनी ही पार्टी के लोगों ने प्रत्याशियों के खिलाफ ठोकी ताल
  • कांग्रेस के मुकाबले बीजेपी के लिए मुश्किलें ज्यादा

भोपाल
मध्य प्रदेश में लोकसभा की एक और विधानसभा की तीन सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव में बीजेपी और कांग्रेस के लिए अपने ही मुश्किलें खड़ी कर रहे हैं। अपनी-अपनी पार्टियों से टिकट नहीं मिलने से नाराज कार्यकर्ता अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ मैदान में उतर आए हैं। कांग्रेस के मुकाबले बीजेपी के लिए समस्या ज्यादा है क्योंकि उसे सभी सीटों पर विद्रोह का सामना करना पड़ रहा है।

खंडवा में नंदू भैया के बेटे हुए अंडरग्राउंड
खंडवा लोकसभा सीट पर पूर्व सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के बेटे हर्षवर्धन सिंह टिकट नहीं मिलने के बाद अंडरग्राउंड हो गए हैं। बीते तीन दिनों से पार्टी नेताओं का उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। शुक्रवार को वे पार्टी के प्रत्याशी ज्ञनेश्वर पाटिल के नामांकन में भी नहीं आए। बताया जा रहा है कि उन्होंने कोविड टेस्ट का बहाना बनाकर नामांकन से दूरी बना ली। सच्चाई यह है कि टिकट की घोषणा होने से पहले तक वे पूरी तरह स्वस्थ थे। अपना टिकट पक्का मानकर वे चुनाव की तैयारियों में लगे थे, लेकिन पार्टी ने परिवारवाद और ओबीसी प्रत्याशी खड़ा करने की रणनीति के तहत ज्ञानेश्वर पाटिल को टिकट दे दिया।

रैगांव में पूर्व विधायक के परिवार ने खोला मोर्चा
सतना जिले की रैगांव विधानसभा सीट पर पूर्व विधायक जुगल किशोर बागरी के परिवार ने बीजेपी के खिलाफ बगावती तेवर अपना लिए हैं। जुगल किशोर बागरी के बेटे पुष्पराज और बहू वंदना ने पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ निर्दलीय नामांकन कर दिया है। ये दोनों ही विरासत के नाम पर अपने लिए टिकट की मांग कर रहे थे, लेकिन पार्टी ने जिला महामंत्री प्रतिमा बागरी को उम्मीदवार बना दिया। इसके बाद दोनों भाई एकजुट हो गए और पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

जोबट में दलबदलू का विरोध
अलीराजपुर की जोबट सीट से बीजेपी ने कांग्रेस से आई पूर्व मंत्री सुलोचना रावत को टिकट दिया है, लेकिन पार्टी के पुराने कार्यकर्ता उनका विरोध कर रहे हैं। पार्टी के कई पदाधिकारियों ने इस्तीफे की पेशकश तक कर दी है। बीजेपी युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया, हालांकि उन्होंने नामांकन नहीं किया है। पूर्व विधायर माधव सिंह डावर भी सुलोचना रावत को टिकट मिलने से नाराज हैं।

MP By-Election News: पृथ्वीपुर से नितेंद्र राठौर को मिला कांग्रेस का टिकट, बीजेपी में मंथन जारी
पृथ्वीपुर में बाहरी प्रत्याशी से मुसीबत
निवाड़ी जिले की पृथ्वीपुर सीट से बीजेपी ने डॉ शिशुपाल सिंह यादव को टिकट दिया है लेकिन पार्टी कार्यकर्ता इससे खुश नहीं हैं। वे उन पर बाहरी होने का आरोप लगा रहे हैं। मूल रूप से यूपी के रहने वाले यादव पिछले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के टिकट पर लड़े थे और दूसरे स्थान पर रहे थे। बाद में वे बीजेपी में शामिल हो गए थे। पृथ्वीपुर से जिला भाजपा उपाध्यक्ष गणेशी नायक भी टिकट के दावेदार थे और अब उनके समर्थकों ने विद्रोह का बिगुल फूंक दिया है।

Congress Candidate for MP Bypolls: कांग्रेस ने उपचुनाव के लिए किया अपने प्रत्याशियों का ऐलान, खंडवा से राजनारायण सिंह पूर्णी को मिला टिकट
कांग्रेस के लिए जोबट सीट पर समस्या
बीजेपी के मुकाबले कांग्रेस में बगावती सुर कम सिनाई पड़ रहे हैं, लेकिन जोबट सीट पार्टी के लिए चिंता का कारण है। कांग्रेस ने यहां से महेश पटेल को उम्मीदवार बनाया है, लेकिन पूर्व विधायक कलावती भूरिया के भतीजे दीपक भूरिया ने निर्दलीय नामांकन कर दिया है। पार्टी की ओर से उन्हें मनाने की कोशिशें हो रही हैं, लेकिन दीपक का कहना है कि वे कलावती भूरिया के सम्मान के लिए चुनावी मैदान से पीछे नहीं हटेंगे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *