मिर्जा गुलजार बेग, मुजफ्फरनगर
संयुक्त किसान मोर्चा की 5 सितंबर की पंचायत के बाद एक बार फिर मुजफ्फरनगर में राष्ट्रप्रेमी मजदूर किसान महांपचायत हुई। जिसमें देश में एमएसपी गारंटी कानून लागू कराए जाने और यूपी में भी हरियाणा व पंजाब की भांति गन्ना मूल्य करने की मांग समेत आठ मांगें उठाई गईं। पंचायत में योगी सरकार के अच्छे कार्यों की प्रशंसा की गई तो दूसरी ओर किसानों की समस्याओं और बढ़ती महंगाई को लेकर योगी सरकार की खिंचाई भी की गई।

किसानों की समस्याओं को लेकर रविवार को हिन्द मजदूर किसान समिति के तत्वावधान में जीआईसी मैदान पर राष्ट्रप्रेमी मजदूर किसान महापंचायत हुई। इसमें मुजफ्फरनगर और शामली सहित कई जिलों से किसान पहुंचे। महापंचायत में महिलाओं ने भी भारी संख्या में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। पंचायत में एक ओर जहां सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा समाज के लिए किए कार्यों की मंच से प्रशंसा की गई तो वहीं बढ़ती महंगाई, किसानों की अनदेखी, बेरोजगारी जैसे मुद्दों को लेकर मंच से प्रदेश सरकार की निंदा भी की गई।

किसान नेता ने योगी की तारीफ की
आध्यात्मिक किसान नेता चन्द्रमोहन ने महापंचायत को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि आज किसानों के इस कार्यक्रम पर देश और दुनिया के साथ ही सत्ता व विपक्ष की नजरें हैं। ये ऐसे किसानों और मजदूरों की महापंचायत है, जो राष्ट्रप्रेमी हैं। उन्होंने कहा कि यूपी से गुंडाराज खत्म किया, बिजली आपूर्ति में सुधार हुआ, सड़कों की दशा सुधरी, अच्छे रोड दिए, गो हत्या बन्द कराई, इसके लिए सीएम योगी का आभार है, लेकिन चार साल से गन्ना मूल्य नहीं बढ़ाया। बिजली महंगी हो गई, महंगाई बढ़ी, पेट्रोल के दाम बढ़ा दिए गए, आवारा पशुओं से किसानों की फसलों की सुरक्षा को कदम नहीं उठाया गया, ट्रैक्टर पर पाबंदी लगा दी गई, ये सभी निर्णय किसान विरोधी हैं। इनको लेकर किसान परेशान है, पीड़ा में है।

Kisan Andolan News: ‘UP चुनाव से पहले किसी बड़े हिंदू लीडर की होगी हत्‍या ‘ BJP पर बरसे राकेश टिकैत
क्या बोले गठवाला खाप के चौधरी राजेन्द्र मलिक
गठवाला खाप के मुखिया चौ. राजेन्द्र सिंह मलिक ने कहा कि प्रदेश का मुखिया होने के नाते हम सीएम योगी आदित्यनाथ का सम्मान करते हैं, लेकिन सरकार को किसानों के प्रति अपनी नीति और सोच को भी बदलना होगा। यूपी में किसानों के प्रति सकारात्मक विचार रखने वाली सरकार ही रहेगी। उन्होंने कहा कि यदि किसान ही न रहा तो ये नेतागिरी किस पर की जाएगी। बिजली के दाम बढ़ा दिए, किसानों का ट्रैक्टर बन्द करा दिया। मैं दावा करता हूं कि 10 साल में किसान नया ट्रैक्टर नहीं खरीद सकता। ये सरकार किसानों का ट्रैक्टर बन्द कराकर दिखाये, हम भी लड़ाई को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि सरकार समझ ले, यह असली महापंचायत है। हम सरकार को एक सप्ताह का समय देते हैं, एक सप्ताह बाद फिर से बैठक की जाएगी और आगमी रणनीति पर विचार होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *