नोएडा
देश में एक मई से 18 साल से अधिक उम्र वालों को कोरोना से बचाव का टीका लगना शुरू हो गया है। दिल्ली, फरीदाबाद, गुड़गांव में भी लोगों को यह टीका लग रहा है लेकिन नोएडा में कब से लगेगा इसको लेकर तस्वीर साफ नहीं है। यहां अभी शासन की गाइडलाइंस का इंतजार हो रहा है।

कोरोना के बढ़ते सक्रमण के बीच टीकाकरण में हो रही देरी से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों की टेंशन बढ़ गई है। अब लोगों को यही लग रहा है कि कम से कम एक डोज भी लग जाए तो शायद वह कोरोना के संक्रमण से थोड़ा बहुत सेफ हो जाएंगे।

सिर्फ सरकारी सेंटरों पर वैक्सीन लगेगी तो लंबी लाइनों में अपनी बारी का इंतजार करना होगा। ऐसे में लोगों के संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाएगा। इसलिए इसके सिस्टम को आसान बनाने की जरूरत है।

सुमित शर्मा, नोएडा

जिले में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। जिला प्रशासन के आंकड़ों के मुताबिक, रोज करीब 1500 संक्रमित सामने आ रहे हैं। वहीं करीब 15 लोगों वायरस की वजह से दम तोड़ रहे हैं। इससे लोगों में डर का माहौल है। अस्पतालों में बेड और ऑक्सिजन की कमी से परेशानी और बढ़ गई है। इन सब के बीच टीकाकरण में देरी से लोग परेशान हैं। एक मई से निजी अस्पतालों में कोरोना की वैक्सीन लगनी बंद हो गई है। केवल सरकारी सेंटरों पर टीकाकरण हो रहा है।

दिल्ली में मेरे कई दोस्तों ने पिछले 5 दिन में वैक्सीन लगवा ली है। हम लोग नहीं लगवा पा रहे हैं। पहले तो पूरी उम्मीद थी कि 1 मई से लगनी शुरू हो जाएगी लेकिन अब तो कुछ पता ही नहीं चल रहा है।

नीशू सिरोही, नोएडा

45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को लंबी लाइनों में लगकर टीका लगवाना पड़ रहा है। निजी अस्पतालों के लिए स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीन की सप्लाई करना शासन के निर्देश पर बंद कर दिया है। उन्हें अपना इंतजाम खुद करना है। शहर के निजी अस्पतालों का कहना है कि हम अपने स्तर से अगर वैक्सीन का इंतजाम करने का प्रयास भी करें तो अभी तक शासन की गाइडलाइन क्लीयर नहीं है। वैक्सीन कितने में लगानी है यह स्पष्ट नहीं है। इसलिए फिलहाल हम लोग अभी इसके लिए प्रयास भी नहीं कर रहे हैं।

शहर में संक्रमण बढ़ रहा है। हमें फ्री में वैक्सीन लगवाने की कोई इच्छा नहीं है। हम पैसे देने को तैयार हैं लेकिन बस किसी तरह जल्द से जल्द वैक्सीन लग जाए और निजी व सरकारी सभी सेंटरों पर लगे।

मनु भारद्वाज, नोएडा

रजिस्ट्रेशन है अनिवार्य
जिले में कोरोना वैक्सीन के नोडल अधिकारी डॉ. नीरज का कहना है कि इस बार 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन सिर्फ और सिर्फ रजिस्ट्रेशन के आधार पर लगेगी और यह रजिस्ट्रेशन लोगों को खुद ही कराना पड़ेगा। उनका कहना है कि हमारे पास अभी तक शासन से कोई स्पष्ट निर्देश नहीं है। इसलिए हम सिर्फ यही सलाह लोगों को दे रहे हैं रजिस्ट्रेशन कराएं जब दिशा निर्देश मिलेगा तो टीकाकरण शुरू हो जाएगा।

सांकेतिक तस्‍वीर



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *