धौलपुर. विद्युत वितरण निगम की ओर से धौलपुर जिले के शहरी क्षेत्र में बिजली के स्मार्ट मीटर लगाने की शुरुआत कर दी गई है। जिले में साढ़े 22 हजार स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। प्रमुख बात यह है कि मंगलवार से शुरू किए गए स्मार्ट मीटर को सबसे पहले विद्युत कॉलोनी में ही लगाया गया है। उच्चाधिकारियों के दिशा निर्देश के तहत मीटर लगाने की प्रक्रिया

By: Naresh

Published: 20 Jul 2021, 09:17 PM IST

अब दफ्तर में बैठे ले सकेंगे घरों की विद्युत रीडिंग

धौलपुर. विद्युत वितरण निगम की ओर से धौलपुर जिले के शहरी क्षेत्र में बिजली के स्मार्ट मीटर लगाने की शुरुआत कर दी गई है। जिले में साढ़े 22 हजार स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। प्रमुख बात यह है कि मंगलवार से शुरू किए गए स्मार्ट मीटर को सबसे पहले विद्युत कॉलोनी में ही लगाया गया है। उच्चाधिकारियों के दिशा निर्देश के तहत मीटर लगाने की प्रक्रिया को गति दी जाएगी। स्मार्ट मीटर आधुनिक तकनीक से लैस होने के कारण इसके दो पहलू हैं। कई मायनों में विद्युत निगम उपभोक्ताओं के लिए सुविधाजनक होने के साथ परेशानी का सबब भी हो सकता है। स्मार्ट मीटर बिजली चोरी रोकने में कारगर साबित होंगे। निगम अधिकारी दफ्तरों में लगे कंप्यूटरों पर ही मीटर रीडिंग समेत अन्य डाटा पढ़ सकेंगे। उपभोक्ता भी खुद के मोबाइल से घर दुकान पर विद्युत खपत पर निगाह रख सकेंगे। निगम सूत्रों का कहना है कि इस मीटर को डाटा चिप के माध्यम से विद्युत निगम के दफ्तरों में लगे कंप्यूटरों से जोड़ा जाएगा। इससे एक-एक मीटर की डाटा को निगम के अधिकारी दफ्तरों में बैठकर पढ़ सकेंगे। बिलिंग कर्मचारी ऑनलाइन दफ्तरों में रीडिंग पढ़कर उसके मुताबिक बिल जारी करेंगे। मीटर रीडर को रीडिंग लेने के लिए घर दुकानों तक आने की जरूरत नहीं होगी। कॉलोनी में किसी एक उपभोक्ता की बिजली बंद करने चालू करने की कमान भी नियम अनुसार निगम के हाथ में होगी। मीटर से छेड़छाड़ करने पर भी निगम कर्मचारियों को पता लग जाएगा। इस पर उपभोक्ता के खिलाफ कार्यवाही भी की जा सकेगी। पहले दिन स्मार्ट मीटर लगाने के दौरान एसई बीएल वर्मा, एक्सईएन रूपसिंह गुर्जर, एईएन प्रवेन्द्र सिंह, एआरओ गणेश झा, जेईएन अमित कुमार व अमृतेश तथा जिनियस कम्पनी से साहिल शर्मा व बशीर खान मौजूद रहे।

प्रीपेड-पोस्टपेड दोनों विकल्प होंगे

निगम सूत्रों ने बताया कि इस स्मार्ट मीटर में प्रीपेड व पोस्टपेड दोनों तरह के विकल्प होंगे। प्रीपेड की सुविधा लेने पर 15 पैसे प्रति यूनिट की छूट मिलेगी। उपभोक्ता चाहे तो पहले रिचार्ज करा कर बिजली लें अथवा रीडिंग के आधार पर बाद में बिल का भुगतान करने की सुविधा ले सकता है। इसके अलावा सोलर बिजली उपभोग करने की स्थिति में भी नेट मीटरिंग के लिए अलग से मीटर लगाने की जरूरत नहीं होगी। इसी स्मार्ट में नेट मीटरिंग की भी सुविधा है। इस तरह एक मीटर से उपभोक्ता को 3 तरह से उपभोग करने के विकल्प मिलेंगे मोबाइल में एप डाउनलोड करने के बाद उपभोक्ता शहर से बाहर होने पर भी उसके घर प्रतिष्ठान पर विद्युत खपत पर निगरानी रख सकेगा।

इनका कहना है

जिले के शहरी क्षेत्र में स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। पहले दिन विद्युत कॉलोनी से ही इसकी शुरुआत की गई है और 10 मीटर लगाए गए हैं। जिले में साढ़े 22 स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। इससे उपभोक्ताओं को तो फायदा होगा ही, निगम में अधिकारी उपभोक्ताओं की विद्युत मीटरों की रीडिंग भी पढ़ सकेंगे।













Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed