-निजी बसों के हड़ताल के कारण रोडवेज में बढ़ेगा यात्री भार, आवश्यकता पडऩे पर चलेगी रोडवेज की अतिरिक्त बसें, प्रदेश में नहीं चलेगी 29 हजार निजी बसें
-मांगे नहीं मानने पर निजी बस एसोसिएशन की अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी भी

कोटा.
राजस्थान में 22 जुलाई को रोडवेज की बसों में यात्री भार बढ़ेगा। क्योंकि 22 जुलाई यानि गुरुवार को पूरे राजस्थान में निजी बसों की हड़ताल रहेगी। निजी बसों की हड़ताल के मद्देनजर निजी बसों के यात्रियों का भार रोडवेज की बसों पर पड़ेगा।

हड़ताल के कारण रोडवेज में यात्री भार बढऩे पर अतिरिक्त बसें भी चलाई जा सकती है। रोडवेज के अधिकारियों के अनुसार अतिरिक्त बसों का संचालन आवश्यकता पडऩे पर ही किया जाएगा। हालांकि रोडवेज के पास बसें तो पर्याप्त संख्या में है, लेकिन चालक-परिचालक की व्यवस्था नहीं होने के कारण सभी रूटों पर अतिरिक्त बसें चलाना संभव नहीं हो पाएगा। फिर भी रोडवेज की यह कोशिश रहेगी कि जहां-जिस रूट पर अच्छा यात्री भार मिलेगा और स्टाफ की व्यवस्था हो जाएगी, वहां अतिरिक्त बसें चलाकर न केवल यात्रियों को राहत दी जाएगी, बल्कि यात्री भार से राजस्व वृद्धि भी की जाएगी। रोडवेज के कोटा आगार के प्रबंधक रघुराज सिंह राजावत ने बताया कि आवश्यकता पडऩे पर अतिरिक्त बसें संचालित की जाएंगी।

प्रदेश में बंद रहेगी 29 हजार बसें–
प्रदेश भर में निजी बस संचालक गुरुवार को एक दिवसीय सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे। सुबह से ही बसें नहीं चलेंगी। बस मालिक संघ के अध्यक्ष एवं बस ऑनर एसोसिएशन राजस्थान के महासचिव सत्यनारायण साहू ने बताया कि कोटा में करीब 750 व प्रदेश में 29 हजार बसें बन्द रहेंगी। साहू ने बताया कि परिवहन मंत्री ने 2 माह का टैक्स माफ करने की बात कही है, लेकिन इससे वे सहमत नहीं है। अब गुरुवार को सरकार की बस मालिकों के प्रति नीतियों के विरोध में गुरुवार को सांकेतिक हड़ताल रखकर प्रादेशिक परिवहन अधिकारियों को ज्ञापन दिया जाएगा। सांकेतिक हड़ताल के बाद भी सरकार नहीं सुनती है तो बस मालिकों की जयपुर में बैठक आयोजित कर अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी। बस मालिकों की एक वर्ष का टैक्स माफ करने, 40 प्रतिशत किराया बढ़ाने समेत अन्य मांगें हैं।

READ MORE :

Utility Alert News : राजस्थान में 22 जुलाई को नहीं चलेंगी निजी बसें

India’s Dream Train : ट्रेक पर उतरी भारत के सपनों की ट्रेन, सफर हुआ शानदार






Show More

















Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *