हाइलाइट्स

  • राजस्थान के अजमेर जिले में एसीबी की कार्रवाई
  • हैड कांस्टेबल का रिश्तेदार 10 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार
  • चोरी के मामले में महिला आरोपी की मदद करने की एवज में ली थी घूस


अजमेर, नवीन वैष्णव
राजस्थान के अजमेर जिले में एसीबी ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। यहां एसीबी टीम ने रामगंज थाने में दर्ज चोरी के मामले में आरोपी की मदद करने की एवज में रिश्वत लेते हेड कांस्टेबल के रिश्तेदार को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। आरोपी हेड कांस्टेबल एएसआई की जोधपुर में ट्रेनिंग कर रहा है, कार्रवाई की भनक लगते ही आरोपी फरार हो गया। एसीबी के निरीक्षक मूलचंद मीणा ने बताया कि महिला परिवादी ने ब्यूरो में शिकायत दी। इसमें बताया कि उसके खिलाफ रामगंज थाने में घर से आभूषण चोरी का मुकदमा दर्ज है। इस मुकदमे की जांच पहले सुनील कुमार के पास थी। अब सुनील कुमार एएसआई की जोधपुर में ट्रेनिंग कर रहा है। इसके बावजूद भी मामले में एफआर लगाने के लिए उससे दस हजार रुपए की मांग करके परेशान कर रहा है। इस शिकायत का सत्यापन करवाया जिसमें हैड कांस्टेबल सुनील कुमार द्वारा रिश्वत मांगने की बात सामने आई। इस पर महिला परिवादी को रंग लगे दस हजार रुपए के नोट देकर अजमेर भेजा।

RAS 2018 Results: आरएएस परीक्षा 2018 की टॉपर बनीं झुंझुनूं की मुक्ता, टॉप-10 में 4 लड़कियां

हेड कांस्टेबल हो गया फरार, तलाश जारी
एसीबी सूत्रों ने बताया कि सुनील के बताए अनुसार जैसे ही उसके रिश्तेदार भूडोल निवासी अमित कलोसिया को दस हजार रुपए दिए। साथ ही महिला परिवादी ने इशारा किया तो एसीबी की टीम ने उसे दबोच लिया। कार्रवाई की जानकारी मिलते ही हेड कांस्टेबल सुनील कुमार जोधपुर से फरार हो गया। जिसकी तलाश की जा रही।

निगम के बाद RPSC पर पड़ी ACB की नजर!, RAS इंटरव्यू में पास करवाने की एवज में रिश्वत लेते कनिष्ठ लेखाकार ट्रैप

फाइल ट्रांसफर होने के बाद भी बनाया दबाव
रामगंज थाना पुलिस ने जो चोरी का मुकदमा दर्ज किया था। उसकी जांच सुनील कुमार के पीसीसी में जाने के कारण हेड कांस्टेबल मंगल के नाम कर दी गई थी। इसके बावजूद भी सुनील ने महिला आरोपी को एफआर लगाने की बात कहकर रिश्वत की मांग की और उसे परेशान किया।

दूल्हे को लेकर भागी घोड़ी का वीडियो वायरल, 4 किलाेमीटर तक बाराती पीछे दौड़े, दूल्हे की हालत हुई खराब



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *