हाइलाइट्स

  • बॉर्डर की बदनामी का दंश या फिर भरोसे पर खरे नहीं उतरे!
  • जालोर में 6 साल में 6 एसपी बदले
  • शेखावत को छोड़कर किसी को लगातार जिला नहीं मिला
  • जालोर के पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह का तबादला
  • अब हर्षवर्धन अग्रवाला होंगे जालोर के नए एसपी

दिलीप डूडी, जालोर

सरकार की ओर से बुधवार रात प्रदेशभर के पुलिस महकमे में बड़ा फेबदल किया गया। इसमें जालोर जिला पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह का भी तबादला कर दिया गया है। इनके स्थान पर अब हर्षवर्धन अग्रवाला जालोर के जिला पुलिस अधीक्षक की जिम्मेदारी सम्भालेंगे। पिछले 6 वर्षों में जालोर के 6 पुलिस अधीक्षक बदले गए हैं, एक को छोड़कर किसी को भी दुबारा लगातार जिला नहीं सौंपा गया है।

अब इसे भले ही बॉर्डर की बदनामी का दंश कहे, या फिर भरोसे पर खरा नहीं उतरना, लेकिन वर्ष 2015 के बाद जो भी आईपीएस जालोर का एसपी बनकर आया, उनमें से एक को छोड़कर कोई भी लगातार दुबारा जिले की कमान नहीं ले पाया है। केवल केसरसिंह शेखावत को ही दुबारा लगातार जिले की कमान दी गई, लेकिन उनका भी कार्यकाल जालोर एसपी के रूप में इन छह में से सबसे कम समय का रहा।

दरअसल, जालोर जिला गुजरात से सटा है। गुजरात में शराबबंदी है। इस कारण अक्सर अवैध शराब गुजरात पहुंचती है। इस पर अंकुश लगाना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती भी है।
गहलोत के दिल्ली दौरे ने बढ़ाई पायलट खेमे की धड़कनें, दिवाली तक हो सकता है फेरबदल!
6 वर्षों में इन आईपीएस ने संभाली जालोर की कमान
वर्ष 26 जून, 2015 को श्वेता धनखड़ जालोर एसपी के रूप में आई, लेकिन 6 फरवरी को उनका तबादला सीआईडी एसएसबी जोधपुर एसपी के रूप में हो गया। इनके बाद कल्याणमल मीणा जालोर आये, जिनका 8 मई 2017 को 7वीं आरएसी बटालियन भरतपुर में कमांडेंट के रूप स्थानांतरण हो गया। इनके पश्चात विकास शर्मा जालोर एसपी बनकर आये, 8 जनवरी 2019 को इनका भी तबादला हो गया। सूची में शर्मा को चुरू एसपी के रूप में स्थानांतरित किया गया, लेकिन दूसरे ही दिन एक अन्य सूची में उन्हें सीधे जयपुर आयुक्तालय में भेज दिया गया। शर्मा के बाद केसरसिंह शेखावत 9 जनवरी 2019 को जालोर एसपी बनकर आये, लेकिन छह महीने ही नहीं रह पाए और उन्हें हटाकर बांसवाड़ा भेज दिया। इनके बाद हिम्मत अभिलाष टांक 6 जुलाई 2019 को जालोर एसपी बनकर आये, जिनका कार्यकाल दागदार रहा, डोडा तस्करी प्रकरण में उन पर गम्भीर आरोप भी लगे, जिस कारण उन्हें एक साल बाद 6 जुलाई 2020 को हटाकर सीआईडी सीबी जयपुर एसपी लगा दिया गया। इनके बाद श्यामसिंह जालोर एसपी बनकर आये, अब इन्हें 14 वीं आरएसी बटालियन पहाड़ी भरतपुर के कमांडेंट की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बेखौफ अपराध! सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस को बनाया बंधक,महिला कॉन्स्टेबल की पिटाई, केस दर्ज
कुछ बड़ी कार्रवाई की तो कुछ खुलासे बाकी
जालोर पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह ने अपने कार्यकाल में कुछ बड़ी कार्रवाई की तो कुछ खुलासे अभी तक बाकी है। एसपी श्यामसिंह ने उनके कार्यकाल में बजरी माफियाओं पर अंकुश लगाने में काफी हद तक सफल रहे, कुछ घटनाएं ऐसी रही जिनके आरोपियों को तत्काल पकड़ने में कामयाब रहे। अवैध डीजल पकड़ने कार्रवाई, अगस्त महीने में करड़ा थाना क्षेत्र के कोटड़ा के एक घर से साढ़े चार किलो अफीम और 37 लाख नकदी बरामदगी ने भी पुलिस की साख बढ़ाई, लेकिन शंखवाली के बालक लक्ष्मण मीणा समेत आहोर क्षेत्र के कुछ ब्लाइंड मर्डर केस खुलासा करने में विफल रहे है।
आंदोलन की राह पर राजस्थान के बेरोजगार, उपेन यादव ने रखी ये 21 सूत्रीय मांगें
अग्रवाला पहली बार सम्भालेंगे जिला पुलिस अधीक्षक की जिम्मेदारी
आईपीएस हर्षवर्धन अग्रवाला पहली बार जिला पुलिस अधीक्षक के रूप में जालोर एसपी की जिम्मेदारी सम्भालेंगे। मूलतः पश्चिम बंगाल के बीकॉम डिग्रीधारी हर्षवर्धन 29 वर्ष के युवा अधिकारी है। इनका जन्म 20 सितम्बर 1992 को हुआ था और 2016 बैच के आईपीएस अधिकारी है। सीआईडी सीबी एसपी जयपुर से इनका तबादला जालोर एसपी के रूप में हुआ है। इससे पहले हर्षवर्धन राज्यपाल के परिसहाय (एडीसी), अजमेर दक्षिण और ब्यावर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रह चुके हैं।

Fact Check: मंदिर में प्रवेश पर दलित की पिटाई का सच, फैक्ट चेक में जानें- जालोर के युवक की वायरल खबर की हकीकत



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *