हाइलाइट्स:

  • गृह जिले झालावाड में बुधवार रात अज्ञात लोगों ने पूर्व CM और बेटे सांसद दुष्यंत के पोस्टर चस्पा किए
  • लापता होने और वापसी लौटने की गुहार के पोस्टर
  • बीजेपी व राजे समर्थकों में रोष
  • जिलाध्यक्ष ने पोस्टर चस्पा करने वालों का दी चेतावनी

झालावाड, अर्जुन अरविंद
राजस्थान प्रदेश की सियासत में इन दिनों अशोक गहलोत सरकार में पायलट की नाराजगी और जयपुर ग्रेटर नगर निगम की महापौर के निलंबन को लेकर चली रही उठापटक के बीच ही राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी एंट्री मारी हैं। दरअसल राजे की एंट्री उनकी राजनीति जमीन झालावाड जिले में उनके ‘लापता हो जाने के पोस्टर’ चस्पा होने से हुई हैं। पोस्टर में वसुंधरा व दुष्यंत को गुमशुदा बताया गया है और पता बताने वाले को आर्कषक इनाम का हकदार होने को कहा हैं।

राजस्थान: गहलोत सरकार पर फिर संकट के बादल! सचिन पायलट से मिलने पहुंचे 8 विधायक

राजे और दुष्यंत सिंह के है गुमशुदगी के पोस्टर
इधर, इस तरह के पोस्टर लगने के बाद झालावाड जिले में बवाल मचा हुआ हैं। बताया जा रहा है कि बुधवार की रात को अज्ञात लोगों ने पूर्व मुख्यमंत्री व झालावाड जिले की झालरापाटन विधानसभा से विधायक वसुंधरा राजे के गुमशुदगी के पोस्टर चस्पा किए हैं। वहीं साथ ही उनके बेटे झालावाड-बारां संसदीय क्षेत्र के सांसद दुष्यंत सिंह भी पोस्टर ेमं लापता बताया है। मिली जानकारी के अनुसार गुरूवार सुबह जब शहर के लोग घरों से निकले, तो यह माजरा सामने आया।

बीजेपी और राजे के समर्थकों में रोष
इस बात को लेकर झालावाड बीजेपी और राजे के समर्थकों में भारी रोष व्याप्त हैं। झालावाड बीजेपी जिलाध्यक्ष संजय जैन ‘ताउ’ ने इस मामले में बयान दिया है। उनका
कहना है , जिन लोगों ने अपनी औछी मानसिकता दिखाई है उन्हें कडा जवाब दिया जाएगा। संजय जैन ने कहा कि वसुंधरा राजे पिछले 32 सालों से झालावाड से जुडी हुई हैं, उनकी यह राजनीतिक कर्म भूमि हैं, राजे यहां के लोगों का किस भी हालात में साथ नहीं छोड सकती हैं। कोविड महामारी के दौर में भी उन्होंने झालावाड के लोगों की हर संभव मदद की हैं, लेकिन फिर भी कुछ लोग इस तरह की हरकते करके उन्हें बदनाम करना चाह रहे हैं।

जिलाध्यक्ष ने कहा – सरकार के मंत्री ने भी की पूर्व सीएम की तारीफ
जिलाध्यक्ष संजय जैन ताउ ने कहा कि राजस्थान सरकार के मंत्री प्रमोद जैन भाया तक ने भी पूर्व मुख्यमंत्री राजे की ओर से कोविड रोगियों की मदद को लेकर उनके कार्यों की प्रशंसा की हैं। लेकिन लोगों का इस तरह का व्यवहार अशोभनीय हैं।

राजस्थान में शुरू हुआ सियासी डैमेज कंट्रोल , विश्वेंद्र सिंह से मिले CM गहलोत के करीबी धमेंद्र राठौड़

बाजारों में चस्पा पोस्टर में क्या लिखा पढें
उल्लेखनीय है कि वसुंधरा राजे और दुष्यंत सिंह के लापता होने के पोस्टरों को झालावाड शहर में बस स्टैंड, मूर्ति चौराहा, मंगलपुरा, गर्ल्स स्कूल, और झालरापाटन में बस स्टैंड पर लगाया गया हैं। पोस्टर में फोटो के उपर लिखा हैं गुमशुदा की तलाश, इसके बाद प्रिय, वसुंधरा जी व दुष्यंत जी, विधायक झालावाड व सांसद झालावाड-बारां। इसके बाद पोस्टर में लिखा हैं, इस कोरोना जैसी बीमारी में सारे झालावाड वासियों को छोडकर आप कहां चले गए हैं। डरिये मत वापिस आ जाइये लोगों का क्या है। दो चार दिन में फिर भूल जाएंगे। जिससे आप फिर से अपने भ्रष्टाचारी-व्यवस्था को आसानी से चला पाएंगे। आपको कोई कुछ नहीं कहेगा। नीचे लिखा है इनका पता बताने वाले आर्कषक इनाम के हकदार होंगे। निवेदक झालावाड की परेशान जनता।

ग्रामीणों ने सर्विस रोड की मांग पर रास्ता रोका, एक्सप्रेसवे के लाइजनिंग ऑफिसर की कर दी पिटाई



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *