हाइलाइट्स

  • पीएम नरेंद्र मोदी ने देश में कोटा का बढाया मान
  • लॉकडाउन में बेजुबान जीवों की सेवा करने पर पिता – पुत्री की पीएम ने की तारीफ
  • पत्र में लिखा- आपके कार्य समाज के लिए प्रेरणादायी

कोटा, अर्जुन अरविंद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षा की काशी कोटा शहर का देश में मान बढाया हैं। पीएम ने कोटा की बेटी स्वैच्छिक मेजर पद से रिटायर्ड प्रमिला राठौड को पत्र लिखकर प्रमिला व उनके पिता जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता पद से रिटायर्ड श्यामवीर सिंह की वैश्विक महामारी कोरोना काल में लगे लॉकडाउन के दौरान बेजुबान जानवरों की निस्वार्थ सेवा करने व उनकी नियमित देखभाल करने को लेकर दोनों की प्रशंसा भरा पत्र लिखा हैं।

जनसंख्या नियंत्रण क़ानून पर छिड़ी बहस के बीच गहलोत के एक और मंत्री ने जताया समर्थन, पूनियां पर किया कटाक्ष

30 साल से डॉग्स की सेवा
उल्लेखनीय है कि प्रमिला के पिता श्यामवीर सिंह पिछले 30 साल से ज्यादा समय से डॉग पालते हैं। प्रमिला पिता की प्रेरणा से बिल्लियों को पालती हैं। दोनों पिता-बेटी बेजुबान जानवरों की अपने खर्चे पर खाने पीने से लेकर उनके स्वास्थ्य की देखभाल करते हैं। लिहाजा पीएम मोदी पिता बेटी के इसी निस्वार्थ कार्य से काफी प्रभावित हुए हैं। और उन्होंने कोटा की बेटी प्रमिला को 8 जून को उनकी व उनके पिता की प्रशंसा वाला भेजा, जो रविवार को सामने आया हैं।

pita beti

डेढ साल सभी के लिए रहा कठिन दौर
इसमें पीएम ने प्रमिला को लिखा है कि आपके व आपके पिता श्यामवीर सिंह की ओर से बेसहारा जानवरों के लिए किए गए कार्यों को जानकर प्रसन्नता हुई। वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान आपके कार्य समाज के लिए प्रेरणादायी हैं। पिछले लगभग डेढ साल में हमने अभूतपूर्व परिस्थितियों का सामना मजबूती से किया हैं। यह एक ऐसा ऐतिहासिक कालखंड है। जिसे लोग जीवनभर नहीं भूल सकेंगे। यह न केवल इंसानों के लिए बल्कि मानव के साान्निध्य में रहने वाले अनेक जीवों के लिए भी कठिन दौर हैं। ऐसे में आपका बेसहारा जानवरों के दुख-दर्द व जरूरतों के प्रति संवेदनशील होना व उनके कल्याण के लिए व्यक्तिगत स्तर पर पूरे सामर्थ से कार्य करना सराहनीय हैं।

मिठाई के डिब्बे में ले जा रहा था 16 लाख से अधिक रुपए, IRS अधिकारी को ACB ने बीच रास्ते में धरा

dog lover.

“इदं मानुषं सर्वेषां भूतानां मधु”
पीएम ने आगे लिखा है कि कहा गया है “इदं मानुषं सर्वेषां भूतानां मधु” अर्थात यह मानवता सभी प्राणियों को मधु के समान प्रिय हैं। इस मुश्किल समय में कई ऐसी मिसालें देखने को मिली हैं, जिन्होंने हमें मानवता पर गर्व करने का अवसर दिया हैं। मुझे उम्मीद है कि आप व आपके पिता इस प्रकार अपनी पहल से समाज में जागरूकता फैलाते हुए अपने कार्यों से लोगों को निरंतर प्रेरित करते रहेंगे।

पहले लोकसभा स्पीकर भी दे चुके है प्रमिला को बधाई
प्रमिला के पिता श्यामवीर सिंह ने एनबीटी को बताया है बेटी प्रमिला असम के तेजपुर में रहती हैं। उसने दस साल मेजर पद पर रहते हुए देश सेवा की हैं। कुछ कारणवश वीआरएस लिया था। वह वहां बिल्लियों की सेवा करती हैं, उनके लिए हर मुश्किल से वह लडने को तैयार हैं। पिता श्यामवीर सिंह कोटा में श्रीनाथपुरम इलाके में रहते हैं, जो जलदाय विभाग से रिटायर्ड है। साथ ही अपनी आय में से 90 फीसदी राशि बेसहारा जानवरों पर खर्च करते हैं। रिटायर्ड अधीक्षण अभियंता श्यामवीर सिंह की पत्नी विजेंद्री देवी आयुर्वेद चिकित्सक हैं। वह भी पति श्यामवीर सिंह का बेसहारा जानवरों की सेवा में हाथ बंटाती हैं। इससे पहले प्रमिला को कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र के सांसद व लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बधाई दे चुके हैं।

Video : 40 साल से महिलाओं को रोज जाना पड़ रहा है शमशान, जानिए पानी की ये दर्दभरी कहानी



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed