हाइलाइट्स

  • कोटा मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का वीडियो वायरल
  • जिला कलेक्टर ने जांच के निर्देश दिये
  • मेडिकल कॉलेज एंटी रैगिंग कमेटी ने शुरू की जांच
  • वीडियो में दिख रही लोकेशन कोटा मेडिकल कॉलेज की ही

अर्जुन अरविंद
कोटा।
देश में रैगिंग पर साल 2001 में सुप्रीम कोर्ट ने पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन राजस्थान में सोमवार को प्रतिबंधित रैगिंग का मामला सुर्खियों में आया है। जिसने सरकारी तंत्र में खलबली मचा दी है। सोशल मीडिया पर एक वीडियो सोमवार दोपहर के बाद से खूब वायरल हुआ। इसमें वीडियो के साथ टेक्स्ट मैटर भी वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा हैं कि यह वीडियो कोटा मेडिकल कॉलेज का है।

सोशल मीडिया वाट्सएप पर जोर-शोर से एक ग्रुप से दूसरे ग्रुप में सेंड और अपलोड की गतिविधि ने कोटा मेडिकल कॉलेज और जिला प्रशासन में हड़कंप मचा दिया। कलेक्टर उज्जवल राठौड़ ने तत्काल प्रभाव से मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. विजय सरदाना को जांच के निर्देश दिए हैं।
दिल्ली से 3 साल की मनु का अपहरण कर भागी नौकरानी, अलवर में पुलिस ने दबोचा, फिर ये बताई कहानी

एनबीटी से बात करते हुए कलेक्टर ने कहा मामले की जांच करवाई जा रही है, मामला गंभीर है। इधर, मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल ने कहा कि कोटा मेडिकल कॉलेज की एंटी रैगिंग कमेटी को वीडियो की सच्चाई और मामले की गहनता से जांच के आदेश दे दिए हैं, कमेटी से मौका मुआयना करवाया गया है। फिलहाल मौके पर कुछ नहीं मिला। जांच डॉ. देवेंद्र विजय के नेतृत्व में की जा रही है। वीडियो में दिखाई दे रही लोकेशन कोटा मेडिकल कॉलेज जैसी दिख रही है, लेकिन जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।
पेट्रोल 10 रुपये महंगा हुआ तो यूपी-हरियाणा चले जा रहे लोग, 20 पेट्रोल पंप बंद होने के कगार पर

इधर, एनबीटी ने मेडिकल कॉलेज एंटी रैगिंग कमेटी के प्रभारी देवेंद्र विजय से बात की। डॉ. विजय ने कहा एक दो दिन में जांच कम्पलीट कर ली जाएगी। जांच प्रिंसिपल के आदेश पर वे खुद, डॉ. प्रतिमा जासवाल और डॉ. एलएन शर्मा कर रहे हैं। प्राथमिक जांच का हवाला देते डॉ. विजय ने कहा है कि वीडियो आज मतलब सोमवार को ही बना है, लोकेशन कोटा मेडिकल कॉलेज की है।
सवाई मोधापुर में तेज बारिश के बाद नाले उफान पर, 2 लोग बहे, देखिये- LIVE वीडियो

एक गार्ड ने बताया भी है कि उसने इस तरह का कुछ देखा था। शाम 6 बजे के पहले इस तरह का वाकैया हुआ है। ऐसे में कॉलेज में तैनात सिक्योरिटी गार्ड से पूछताछ की गई है। एक-दो स्टूडेंटस के नाम सामने आए हैं, उनसे पूछताछ की गई हैं। डॉ. विजय ने कहा कि जांच पूरी होने के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। हालांकि इस वीडियो की पुष्टि एनबीटी नहीं कर रहा हैं।
सिद्धू की ताजपोशी के बाद सीएम गहलोत ने दिए संकेत

वीडियो में क्या कुछ? समझें
यह वीडियो किसी उंचाई वाले स्थान से छिपकर रिकॉर्ड किया गया है। सीनियर अपने जूनियर स्टूडेंटस को दो कतारों में खड़ा करके रैगिंग ले रहे हैं और सजा दे रहे हैं। ऐसा प्रतीत हो रहा है। वहीं, मेडिकल कॉलेज की यूनिफार्म किसी ने भी नहीं पहनी हुई है, मास्क में सिर्फ एक स्टूडेंटस नजर आ रहा है। कतारों में खड़ बाकी स्टूडेंटस बगैर मास्क के हैं। ऐसे में महामारी एक्ट का उल्लंघन भी इस रैगिंग में हुआ है। वीडियो में कुछ स्टूडेंटस को मुर्गा बनाया है। सीनियर के सामने जूनियर स्टूडेंटस डरे सहमे हुए हैं। सूत्र के मुताबिक जूनियर स्टूडेंटस को यहां थप्पड़ भी मारे गए हैं। इधर, एंटी रैगिंग कानून कहता है कि जांच में दोषी पाए जाने पर तीन साल की सजा सश्रम कैद भी हो सकती है। आर्थिक दंड का भी प्रावधान है। वहीं रैगिंग के मामले में कार्रवाई न करने या मामले की अनदेखी करने पर कॉलेज प्रशासन के खिलाफ भी कार्रवाई होने और आर्थिक दंड का भी प्रावधान है।

Rajasthan : सवाई मोधापुर में बारिश के बाद नदी-नालों में उफान, 2 लोग बहे, देखिये- LIVE वीडियो



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed