| नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: Oct 9, 2021, 7:24 PM

ashok gehlot speech over lakhimpur khiri: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (cm ashok gehlot) ने लखीमपुर खीरी (lakhimpur khiri)मामले में बयान जारी किया है। शनिवार को गहलोत ने गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा (ajay mishra) की धमकी, उनके इस्तीफे, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (up cm yogi adityanath) और फिर सुप्रीम कोर्ट का जिक्र करते हुए किसानों के साथ न्याय होने की उम्मीद जताई है।

 

हाइलाइट्स

  • लखीमपुर खीरी मामले में अशोक गहलोत का बयान
  • कहा- अजय मिश्रा की स्पीच को सबने सुना, धमकी दे रहा है अपनी पब्लिक को
  • 4 किसानों का मरना किसे कहते हैं, टोटल 9 लोग मारे गए हैं
  • उसके बावजूद भी न उन्होंने इस्तीफा दिया, न प्रधानमंत्री मोदी जी ने इस्तीफा लेने का मैसेज दिया

जयपुर
उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को बयान जारी किया है। गहलोत ने गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा की धमकी भरे भाषण का जिक्र करते हुए लखीमपुर में 9 लोगों की मौत का जिक्र किया। इसके साथ ही मिश्रा के इस्तीफा नहीं देने और इस्तीफे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोई मैसेज नहीं देने की बात भी कही। इस पूरे माले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की भूमिका और फिर सुप्रीम कोर्ट की लताड़ का जिक्र करते हुए उन्होंने किसानों के साथ न्याय होने की उम्मीद जताई है।

Power Crisis: हाडौती के थर्मल प्लांट क्रिटिकल स्थिति में, 4880 की एवज में सिर्फ 2620 मेगावाट बिजली उत्पादन
यहां पढ़ें- सीएम गहलोत के भाषण की प्रमुख बातें

अजय मिश्रा ने धमकी दी, 9 लोग मारे गए, इस्तीफा नहीं दिया


लखीमपुर खीरी में जो कुछ हुआ, उसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। जिस रूप में अजय मिश्रा जी जो गृह राज्य मंत्री हैं भारत सरकार के और उनकी स्पीच को सबने सुना, जब वो कह रहे हैं कि आप सबको मालूम नहीं है कि गृह मंत्री और सांसद बनने से पहले मैं क्या था? मैं जिस दिन चाहूंगा, ऐसी स्थिति पैदा कर दूंगा कि आप लोग यहां से भाग जाओगे। जो अगर इस प्रकार की धमकी दे रहा है अपनी पब्लिक को, अपने मतदाताओं को, उसके बाद में जो कुछ भी हुआ वो देश के सामने है। 4 किसानों का मरना किसे कहते हैं, टोटल 9 लोग मारे गए हैं वहां पर, ये हृदय विदारक जो दृश्य बना है और जिस रूप में पूरा देश देख रहा है, उसके बावजूद भी न उन्होंने इस्तीफा दिया, न प्रधानमंत्री मोदी जी ने इस्तीफा लेने का मैसेज दिया उनको। इससे वो किस दिशा में देश को ले जा रहे हैं, जब आपके सामने पूरे प्रूफ आ गए कि वो अपनी स्पीच के अंदर ऐसे कमेंट कर रहें है जो गृह मंत्री को शोभा नहीं देते हैं
राजस्थान पटवारी के 15.50 लाख अभ्यर्थियों के लिए बड़ी खबर, एग्जाम सेंटर पहुंचने सरकार ने किया खास इंतजाम
प्रियंका गांधी, राहुल गांधी को रोकने का तुक समझ नहीं आता
और उसके बाद में आप प्रियंका गांधी जी जो प्रभारी महामंत्री हैं एआईसीसी की, या जो अन्य नेता थे राहुल गांधी जी जाना चाहते थे, या भूपेश बघेल गए वहां पर, या मिस्टर चन्नी गए, दीपेंद्र हुड्डा गए, और भी कई नेता गए वहां पर, उनको आप रोकने की कोशिश करने का तुक समझ में नहीं आता है। अगर कोई घटना होती है कैसी भी घटना हो, अगर विपक्षी पार्टियां नहीं जाएंगी तो कौन जाएगा? और जब विपक्षी पार्टी जाती हैं और वहां जनता की बात सुनती हैं, चश्मदीद गवाह होते हैं उनकी बात सुनती है, उससे एक प्रकार से उनको विश्वास जमता है कि सरकारी पक्ष में अगर मान लो पक्षपात भी हुआ, तो क्योंकि विपक्षी पार्टियों लोग हमारे साथ खड़े हैं, हमारे साथ न्याय होगा। उस भावना से भी वो लोग शांत रहते हैं, कानून हाथ में नहीं लेते हैं और उम्मीद करते हैं हमें न्याय मिलेगा, आप उनको उससे वंचित कर रहे हो अनावश्यक रूप से? तो ये मिस हैंडलिंग नहीं है तो क्या है?
‘संगठन मेरी प्राथमिकता’, गुजरात जाने से पहले बोले मंत्री रघु शर्मा- CM गहलोत के अनुभवों का लूंगा फायदा
यूपी में विपक्षी पार्टियों को जाने से रोकने की परंपरा
वहां के मुख्यमंत्री जी को चाहिए था, वो खुद बल्कि जाने के लिए व्यवस्था करते सिक्योरिटी की, जो जाना चाहते थे उनकी सिक्योरिटी की व्यवस्था करते कि आपस में कोई ऐसी स्थिति नहीं बन जाए वहां पर कि जाने वाले नेता लोग ढंग से बात भी नहीं कर पाएं, ये हमेशा कायदा होता है और ये ही परंपराएं हमने देखी हैं। पर यूपी ऐसा प्रदेश बन गया है जहां पर विपक्षी पार्टियों को जाने से रोकने की परंपरा बन गई है और जैसी सरकार की मंशा होती है, पुलिस वो ही व्यवहार करती है, ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

सुप्रीम कोर्ट ने लताड़ पिलाई, उम्मीद है किसानों के साथ न्याय होगा

अभी भी जो कल्प्रिट हैं उनको अविलंब अरेस्ट करना चाहिए और लोगों को न्याय दिलाना चाहिए, ये काम वहां की सरकार का है और जिस प्रकार उच्चतम न्यायालय ने जो लताड़ पिलाई है राज्य सरकार को बार-बार, मैं समझता हूं कि उसके बावजूद भी अगर स्टेट गवर्नमेंट और वहां का पुलिस-प्रशासन योजनाबद्ध तरीके से और शीघ्र न्याय नहीं दिलाए, तो ये बहुत ही अन्फॉर्च्युनेट होगा। खाली आप कमीशन बैठा दो, उससे नहीं काम चलने वाला। मैं उम्मीद करता हूं कि सुप्रीम कोर्ट की भावनाओं को, देशवासियों की भावनाओं को समझकर के अविलंब ऐसी कार्रवाई होगी जिससे कि, विश्वास हो पूरे मुल्क को कि किसानों के साथ न्याय होगा, धन्यवाद।

Fact Check: गांधी जयंती पर कांग्रेस के बुजुर्ग नेता का वीडियो वायरल, देखें- सच के साथ पूरा वीडियो

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : rajasthan chief minister ashok gehlot video statement over speak up for kisan nyay
Hindi News from Navbharat Times, TIL Network



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed