हाइलाइट्स:

  • घटने लगे नए एक्टिव केसेज, रिकवरी भी लगातार बढ़ रही
  • वैक्सीनेशन में अब राजस्थान पहले स्थान पर
  • राजस्थान में राजधानी जयपुर में सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन

जयपुर
प्रदेश में अप्रैल के बाद अभी मई में भी कोरोना हाहाकार मचा रहा है। वहीं इसी बीच राहत की खबर यह है कि प्रदेश जहां वैक्सीनेशन में पहले पायदान पर पहुंच गया है। वहीं अब राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की रिकवरी में भी तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है। हालांकि अभी भी प्रदेश में रिकॉर्ड कोरोना संक्रमित सामने आ रहे हैं। कोरोना एक्टिव केसज की संख्या 2 लाख के नजदीक पहुंच चुकी है। मंगलवार को भी राजस्थान में 16 हजार से ज्यादा पॉजिटिव केस पाए गए है। हां हालांकि, संक्रमितों की संख्या पिछले दो दिनों में थोड़ी कम हुई है। लेकिन रिकवरी रेट में अच्छी बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है।

ट्विटर ट्रेंड में आई ‘राजस्थान सरकार’, बताई जा रही ये पांच बड़ी वजहें

डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोगों को लगी डोज
मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान में कुल आबादी के 17.27 प्रतिशत लोग वैक्सीनेशन करवा चुके हैं। यानी तीन मई तक राजस्थान में 1.32 करोड़ लोग वैक्सीनेट हो चुके हैं। लिहाजा प्रदेश में लगातार हो रहे वैक्सीनेशन के चलते अब राजस्थान इस मामले में पहले पायदान पर पहुंच चुका है। वहीं गुजरात 1.28 करोड़ डोज के साथ दूसरे और महाराष्ट्र सर्वाधिक 1.63 करोड़ डोज के साथ तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र की आबादी के महज 11.16% लोगों को ही टीका लग चुका है। इधर राजस्थान में 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को टीके लगवाने की प्रक्रिया भी गति पकड़ती दिखाई दे रही है।

Rajasthan News: कोरोना एक्टिव केसेज 2 लाख के नजदीक , फिर आए 16 हजार से ज्यादा पॉजिटिव

बढ़ रही है कोरोना रिकवरी
वैक्सीनेशन के साथ अच्छी बात यह भी है कि प्रदेश में पिछले तीन दिनों से लगातार कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट में इजाफा देखने को मिल रहा है। मंगलवार को 14416 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर पहुंचे। वहीं रविवार को 11262, सोमवार को 11949 संक्रमित मरीज ठीक हुए। तीन दिनों में रिकवरी रेट 69.78 पर स्थिर दिखाई दे रही है। वहीं धीरे-धीरे यह आंकड़ा बढ़ रहा है।

बंगाल हिंसा का असर राजस्थान तक भी पहुंचा, उपनेता प्रतिपक्ष राठौड़ के साथ बीजेपी कार्यकर्ताओं ने की ममता बनर्जी के खिलाफ नारेबाजी



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *