अलवर
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने रविवार को एक बड़ी कार्रवाई करते हुए रामगढ़ में रेलवे के सहायक अधिशाषी अधिकारी रमेश सिंह को डेढ़ लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। आरोपी रमेश सिंह आज आगरा से साइट निरीक्षण करने और ठेकेदार से बिल पास करने के एवज में रिश्वत लेने आया था। जिसकी ठेकेदार ने शिकायत अलवर एसीबी में थी।


मिली जानकारी के मुताबिक, आरोपी सहायक अधिशाषी अभियंता आगरा मंडल में पोस्टेड है। अलवर मथुरा लाइन आगरा रेलवे मंडल में आती है। रामगढ़ में अलवर मथुरा रेलवे लाइन पर काम का निरीक्षण करने के दौरान ठेकेदार से चाय पीते हुए रिश्वत के डेढ़ लाख रुपये लिए तभी एसीबी ने उसको दबोच लिया। जिससे ठेकेदार से 1.5 लाख रुपये की रिश्वत राशि बरामद करते हुए पकड़ा है। फिलहाल रामगढ़ थाने में एसीबी के एएसपी विजय सिंह ओर डीएसपी महेंद्र मीणा के नेतृत्व में एसीबी की कार्यवाही की है।

टेंडर का बिल पास करने के लिए मांगी थी 1.5 लाख की रिश्वत
अलवर के रहने वाले एक कॉन्ट्रेक्टर का रेलवे में ब्रिज व अंडरपास बनाने का काम चल रहा था। टेंडर का बिल पास करने की एवज में अधिकारी ने टेंडर की एक प्रतिशत राशि रिश्वत के रूप में मांगी। अलवर के रामगढ़ के मुख्य बाजार में रिश्वत की राशि के साथ एसीबी की टीम ने रमेश सिंह को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। यह पूरी कार्रवाई एसीबी के एसपी विजय सिंह व डिप्टी एसपी महेंद्र मीणा के नेतृत्व में की गई।

कॉन्ट्रेक्टर से 1.5 लाख की रिश्वत लेते अधिकारी को एसीबी ने पकड़ा
अलवर एसीबी की टीम को अलवर के रहने वाले एक कॉन्ट्रेक्टर ने रेलवे के एक अधिकारी की ओर से बिल पास करने की एवज में एक प्रतिशत राशि रिश्वत के रूप में मांगने की शिकायत दी। जिसके बाद एसीबी की टीम ने उस शिकायत का सत्यापन कराया। सत्यापन में शिकायत सही पाई गई। जिसके बाद एसीबी की टीम ने विशेष रंग वाले नोट लेकर कॉन्ट्रेक्टर को भेजा। एसीबी की टीम लगातार कॉन्ट्रेक्टर का पीछा कर रही थी। रेलवे में सहायक अधिशासी अभियंता रमेश सिंह कांट्रेक्टर को घुमाते हुए रामगढ़ के मुख्य बाजार में बुलाया। वहां चाय पीते हुए एक दुकान पर रिश्वत के डेढ़ लाख रुपए की राशि ली। उसके बाद रमेश सिंह गाड़ी में बैठ कर जाने लगा। इसी दौरान कॉन्ट्रेक्टर के इशारे पर एसीबी की टीम ने रमेश सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उसके साथ कुछ और लोग थे। जिनको एसीबी की टीम ने छोड़ दिया।

यूपी के जौनपुर जिले का रहने वाला है आरोपी रमेश
रमेश सिंह को रामगढ़ थाने में लाया गया है। जहां लगातार एसीबी की टीम जांच पड़ताल कर रही है। एसीबी के एएसपी विजय सिंह मीणा ने बताया कि रेलवे के ठेकेदार से बिल पास करने की एवज में रेलवे के आगरा मंडल में पोस्टेड एडिशन चीफ इंजीनियर रमेश सिंह को डेढ़ लाख रुपये की रिश्वत लेते ट्रेप किया है। आरोपी रमेश सिंह ग्राम बादलपुर सुजानगढ़ जौनपुर उत्तर प्रदेश का रहने वाला है।

Alwar News: बिल पास करने के बदले रेलवे के सहायक अधिशासी अधिकारी ने मांगी थी 1.5 लाख की रिश्वत, ACB ने रंगे हाथ पकड़ा



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *