हाइलाइट्स

  • राजस्थान का चिकित्सा विभाग जुटा तीसरी लहर की तैयारी में
  • जीवन रक्षक दवाओं के लिए बनाया जा रहा है पोर्टल
  • पोर्टल पर मिलेगा दवाओं से जुड़ा पूरा ब्यौरा

जयपुर
देश में कोरोना की दूसरी लहर ने जबरदस्त तबाही मचाई थी। इस दौरान रेमडेसिविर जैसे कई जीवन रक्षक दवाओं और इंजेक्शन की डिमांड के चलते कई लोगों को किल्लत का सामना करना पड़ा। राजस्थान में ऐसी स्थिति दोबारा ना उभरे , इसे ध्यान में रखते हुए कोविड रोगियों के रिश्तेदारों की मदद करने के लिए राज्य का स्वास्थ्य विभाग एक पोर्टल लेकर आ रहा है। यहां टोसीलिज़ुमैब, रेमेडिसविर और डेक्सामेथासोन जैसे इंजेक्शन की जानकारी उपलब्ध होगी। मिली जानकारी के अनुसार इस पोर्टल पर पेशेंट्स के परिजनों को दवा या उससे नुस्खे अपलोड करने होंगे । इसके बाद पोर्टल उन्हें भुगतान गेटवे के साथ दा उपलब्ध करवा देगा। साथ ही पोर्टल लोगों को यह भी जानकारी देगा कि उन्हें इंजेक्शन और जीवन रक्षक दवाएं कहां से मिलती हैं। कुल मिलाकर लाइफ सेविंग दवाओं से जुड़ा पूरा ब्यौरा इस पोर्टल के जरिए आसानी से प्रदेशवासियों को उपलब्ध होगा।
पेगासस को लेकर उपजे विवाद के बीच राजस्थान में हावी फोन टैपिंग मामला, CM के OSD दिल्ली तलब

आरएमएलसीएल ने शुरू किया दवाओं का ऑर्डर
मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन लिमिटेड (RMSCL) ने थर्ड वेव स्ट्राइक की स्थिति से पहले इन इंजेक्शन और दवाओं का ऑर्डर देना शुरू कर दिया है।आरएमएससीएल के प्रबंध निदेशक आलोक रंजन ने कहा कि छली बार हमें लोगों से ये चीजें समय पर न मिलने की शिकायत आई थी, लिहाजा इस विषय को ध्यान में रखते हुए पोर्टल के माध्यम से लोगों को दवा पहुंचाने के इंतजाम का फैसला किया है।

अगस्त से पहले बदले जा रहे है तौर-तरीके
प्रबंध निदेशक ने बताया कि आरएमएससीएल अगस्त के पहले सप्ताह तक दवाएं और इंजेक्शन प्राप्त करने के तौर-तरीकों पर काम कर रहा है। इसी क्रम में इस पोर्टल की उपयोगिता भी देखी जा सकती है। इसके तहत एक कोविड रोगी के परिचारक को पोर्टल पर जाना होगा, डॉक्टर के पर्चे को अपलोड करना होगा और उसे भुगतान गेटवे पर निर्देशित किया जाएगा। भुगतान के बाद, उसे रेमेडिसविर जैसी दवाएं और इंजेक्शन लेने के लिए एक निर्दिष्ट पता दिये जाएंगे।

ऑक्सिजन संकट : काश! कोटा की हुई मौत का सच जान कर सरकार जान पाए जमीनी हकीकत

तीसरी लहर में बच्चों पर ना पड़े प्रभाव इसलिए किए पर्याप्त इंतजाम
रंजन ने कहा कि तीसरी लहर से पहले हम ठीक से स्टॉक कर लेंगे। चूंकि संकेत हैं कि तीसरी लहर बच्चों को प्रभावित कर सकती है, इसलिए बच्चों के उपयोग के लिए सीरप के रूप में विभिन्न दवाओं का भी आदेश दिया गया है। रंजन ने कहा, “हमने पेरासिटामोल, जिंक, विटामिन-सी और एजिथ्रोमाइसिन के सीरप का ऑर्डर दे दिया है।

‘पेगासस’ के बहाने कांग्रेस ने वसुंधरा पर साधा निशाना, डोटासरा ने कहा- राजे के फोन किये गये टैप



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *