जयपुर
कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने पेगासस जासूसी मामले की तुरंत प्रभाव से निष्पक्ष जांच की मांग की है, ताकि इसके लिए जवाबदेही तय हो। पायलट ने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि भारत सरकार इसकी जांच करेगी, तो उससे सच कभी सामने आयेगा नहीं.. इसलिये कांग्रेस की भी मांग है कि इसकी जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश के स्तर पर समयबद्ध तरीके से हो। उन्होंने कहा कि इस मामले की तह तक जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि फ्रांस की सरकार ने तो इस मामले की गंभीर जांच के आदेश भी दिए हैं। उन्होंने कहा कि ‘‘कौन लोग, कौन-सी सरकार, कौन व्यक्ति इसके लिये जिम्मेदार थे? जवाबदेही तय करने के लिए तुरंत प्रभाव से निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। चाहे वह संयुक्त संसदीय कमेटी हो, चाहे उच्चतम न्यायालय के संरक्षण में जांच की जाए ताकि सच्चाई सामने आये।’’

पेगासस को लेकर उपजे विवाद के बीच राजस्थान में हावी फोन टैपिंग मामला, CM के OSD दिल्ली तलब

राजभवन का घेराव करेंगे
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों के मन में सवाल उठ रहे है कि सरकार बोलती है कि हमने गैर कानूनी नहीं किया तो फिर किसके माध्यम से भुगतान हुआ, किसने करवाया, कब तक करवाया और निष्पक्ष जांच से बहुत सारे खुलासे होंगे एवं हम इसकी तह तक पहुंचेंगे। उन्होंने इसे लोगों की निजता एवं संवैधानिक परम्पराओं का हनन बताया और कहा कि लोकतंत्र को कमजोर करने की कोशिश की गई तथा इससे सारे देशवासी विचलित हैं, आहत हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इसको लेकर देशभर में जनआंदोलन करेगी। गुरुवार को हर राज्य में राजभवन का घेराव हो रहा हैं एवं राजस्थान में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के नेतृत्व में जयपुर में भी हम लोग राजभवन का घेराव करेंगे, उन्होंने कहा कि अगर कुछ छुपाने को नहीं है तो जांच से दूर भागने का भी कोई मतलब नहीं बनता है।

मौतों की आडिट करवानी चाहिए
उन्होंने केन्द्र सरकार की ओर से संसद में दिये गये ऑक्सीजन की कमी के कारण देश में कोई मौत नहीं होने संबंधी बयान पर कहा, ‘‘केन्द्र सरकार द्वारा यह कह देना कि राज्य सरकारों ने हमें जो आंकड़े भेजे हैं, उसमें किसी मौत का कारण ऑक्सीजन की कमी नहीं बताया.. यह नाकाफी है.. सिर्फ राज्य सरकार से आंकड़े जुटाने का काम केन्द्र सरकार है तो यह मैं समझता हूं कि लोगों के गले नहीं उतर रहा है।’’ उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इस सारे संकट में हुई मौतों की आडिट करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज में डर का माहौल है कि अब कुछ भी हैक किया जा सकता है और सत्ता में बैठे लोग लोगों की गोपनीयता और जीवन पर आक्रमण करने के अधिकार का दुरूपयोग कर रहे है।

पेगासस जासूसी मामले में 22 जुलाई को राजभवन का घेराव करेगी कांग्रेस, डोटासरा ने की गृहमंत्री शाह के इस्तीफे की मांग

पायलट ने किया गहलोत सरकार का समर्थन
पायलट ने कहा कि कांग्रेस एक मात्र ऐसी पार्टी है जो राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा को चुनौती दे सकती हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि कांग्रेस पार्टी अपने सहयोगियों के साथ केन्द्र मे अगली सरकार बनायेगी।
उन्होंने कहा कि ‘‘लोगों को अहसास हो गया है कि संप्रग सरकार का शासन वर्तमान सरकार के शासन से कहीं बेहतर था।’’ राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार पर फोन टैपिंग के आरोपों के सवाल का जवाब देते हुए पायलट ने कहा कि राज्य सरकार पहले ही विधानसभा में कह चुकी है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed