reet exam news: राजस्थान में शिक्षक भर्ती रीट से पहले धांधली का बड़ा खुलासा, सामने आई 100 करोड़ की डील, केस दर्ज
जयपुर
राजस्थान में शिक्षक भर्ती (रीट) की घोषणा होते ही दलाल, ठग और नकल माफिया गिरोह सक्रिय हो गए है। इस बात का खुलासा होते ही जयपुर की जवाहर नगर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। इस मामले में एक अभ्यार्थी की शिकायत सामने मिली है। साथ ही पुलिस ने भी गंभीरता दिखाते हुए गिरोह के दो लोगों के खिलाफ फिलहाल नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली है, साथ ही अन्य के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने ठगी समेत अन्य छह धाराओं में केस दर्ज किया है।

फिल्मी अंदाज में पुलिस- गैंगस्टर बदमाशों के बीच मुठभेड़, उदयपुर से बाइक से फरार गुंडों का कॉप्स ने किया राजसमंद तक पीछा, पढ़े दिलचस्प घटनाक्रम

रूम पार्टनर ने की परिवादी से डील
जवाहर नगर पुलिस ने बताया कि क्षेत्र में रहने वाला एक युवक मानसिंह, जो करीब दो साल से किराये पर रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। मूल रुप से सीकर का रहने वाला है। उसने जानकारी दी है कि उसके साथ रूम शेयर कर रहे जोधपुर के धीरज ने उसे बिना परीक्षा सरकारी नौकरी देने का लालच दिया है। साथ ही पूरी प्लानिंग भी बताई। धीरज ने मानसिंह को बताया कि उसके मामा भीखाराम की सरकार में अच्छी जान पहचान हैऔर उन्होनें कई लोगों की नौकरियां लगाई हैं। हांलाकि नौकरी पाने के लिए उसे कुछ रुपए भी देने होंगे।

ऐसे हुआ खुलासा
युवक मानसिंह ने बताया कि मामा भीखाराम बिश्नोई से धीरज ने उसे मिलवाया । साथ ही पटवारी की परीक्षा पास कराने के लिए 14 लाख में सौदा किया। इसके बाद 6 लाख एडवांस भी ले लिए। पटवारी भर्ती के फार्म का प्रिंट निकलवाया, तो नाम व पता उसका था लेकिन फोटो किसी और की थी। इस पर उसने भीखाराम को फोन किया , तो उसने बताया कि आपकी जगह परीक्षा फोटो वाला युवक ही देगा। जॉइनिंग के टाइम आपको भेज देंगे। इस पर मान सिंह ने पैसा वापस देने की मांग की।इसके बाद करीब एक माह पहले उनके गांव स्थित घर पर पिता के पास बनवारी बिजारणियां व हरी नाम के दो व्यक्ति पहुंचे। उन्होंने बताया कि उन्हें भीखाराम व फतेहपुर निवासी वीरेंद्र ने भेजा है। उनके गिरोह ने 100 करोड़ रुपए में रीट के पेपर का सौदा किया है और सितंबर में 17-17 लाख रुपए में पेपर बेच रहे हैं।

ACB Trap :रिश्वत की आखिरी किश्त पड़ गई भू-अभिलेख निरीक्षक पर भारी, बूंदी एसीबी ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

पुलिस जुटी मामले की जांच में
मिली जानकारी के अनुसार जो लोग मानसिंह के गांव पहुंचे थे, उन्होंने उससे कहा कि अभ्यर्थी जो भी पेपर को खरीदना चाहते हैं , वह आधा पैसा देकर बुकिंग कर लें। तुम्हें भी नौकरी लगा देंगे और पूर्व में दिए गए 6 लाख रुपए एडजेस्ट कर लेंगे। बाकी 11 लाख रुपए बाद में ले लेंगे। इस पर मानसिंह के पिता ने मना कर दिया। लिहाजा इसके बाद मान सिंह ने इस संबंध में जवाहर नगर थाने में मामला दर्ज करा लिया। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में दो टीमों का गठन किया है। एक टीम को जोधपुर भेजा गया है और दूसरी टीम यहां तकनीकी जांच कर रही है।

छठी बार रीट की तिथि घोषित, 16 लाख आवेदन
उल्लेखनीय है कि प्रदेश की शिक्षक भर्ती राजस्थान टीचर एलिजीबिलिटी टेस्ट (REET)2019 से लंबित है। साथ ही अब तक छठी बार रीट की तिथि घोषित हो चुकी है। कोरोना सहित कई अन्य कारणों के चलते लंबित हुई रीट को लेकर अब सरकार ने 26 सितंबर को परीक्षा आयोजित करने का ऐलान किया है। इसकी तैयारियां भी प्रारंभ हो गई है। वहीं अब तक इसमें 16 लाख अभ्यार्थियों ने आवेदन कर दिए हैं। ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया अभी भी चल रही है, जिसकी अंतिम तिथि 5 जुलाई है। राज्य सरकार की ओर से हो रही तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती में कुल 31 हजार पद है।

पूनियां की चिट्‌ठी के बाद वसुंधरा राजे का कथित ऑडियो लीक, कहा- इसको थोड़ा चलाए रखना, सुनें VIRAL AUDIO

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *