Said I will come on Rakshabandhan, now son of Kodia returning in tiranga

-छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुआ आईटीबीपी जवान शिवनारायण मीणा
-रोड ओपनिंग ड्यूटी के दौरान हुआ हमला

बोला था रक्षाबंधन पर आऊंगा, अब तिरंगे में लौट रहा कोडिया का सपूत

श्रीमहावीरजी./ हिण्डौनसिटी.
सोमवार शाम को फोन पर पिता से बात हुई थी। बोल रहा था कि अब वह रक्षाबंधन पर गांव आएगा। लेकिन दूसरे दिन मंगलवार दोपहर को लाडले बेटे शिवनारायण के तिरंगे में लिपट कर लौटने का संदेश आ गया। छत्तीसगढ़़ से आईटीबीपी के अधिकारी का फोन पर संदेश सुन गांव कौडिया के ऊंकार मीणा के पैरों के नीचे से मानों जमीन खिसक गई। नक्सली हमले में बेटे के शहीद होने की सूूचना पर घर में कोहराम मच गया। गांव के सपूत की शहादत की खबर लगते ही शिवनारायण के घर पर लोगों का तांता लग गया। बेटे के लिए बिलखते मां-पिता देख ढांढस बंधा रहे लोगों की आंखें भी आंसुओं को नहीं रोक सकीं। ग्रामीण पार्थिव देह आने के इंतजार में शहीद के घर पर रुके रहे। शहीद की पार्थिव देह बुधवार दोपहर तक गांव पहुंचेगी।

किसान ऊंकार मीणा ने बताया बड़ा बेटा शिवनारायण(31) करीब 4 वर्ष पहले भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) की 45 वीं बटालियन में भर्ती हुआ था। अभी उसके विवाह को लेकर चर्चाएं चल रही थी। शिवनारायण मीना आईटीबीपी की 45 बटालियन में छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में तैनात था। नक्सली क्षेत्र होने से वजह से वह एक-दो दिन में ड्यूटी ऑफ होने पर घर बात करता था।

सोमवार देर शाम माता-पिता से फोन पर कुशलता की सूचना दी। लेकिन दूसरे दिन ही छत्तीसगढ़ के अमरई घाटी नारायणपुर में नक्सलियों के हमले में शहीद हो गया। मंगलवार को नक्सलियों के अमईघाटी नारायणपुर में हमले में देश के लिए शहीद हो गया। बेटे के शहीद होने की खबर सुन मां ईसरबाई बिलख पड़ी। वृद्धावस्था की दहलीज पर दुख का पहाड़ टूटने से गांव में शोक छा गया। गांव में शाम को चूल्हे नहीं जले। ऊंकारलाल ने बताया कि शिवनारायण तीन पुत्र पुत्रियों में सबसे बड़ा था। छोटा बेटा नमोनारायण मीणा एयर इंडिया कम्पनी में सुुरक्षा सहायक है। शिवनारायण दो माह पहले ही छुट्टी पर घर आया था।

एसपी-कलक्टर ने जताया शोक-
छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में कोडिया गांव के जवान शिवनारायण मीना के शहीद होने पर कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग व पुलिस अधीक्षक मृदुल क’छावा ने शोक जताया है। उन्होंने करौली जिले के सपूत को श्रद्धांजली दी है।

राखी से पहले शहीद हुआ भाई-
रक्षा बंधन के त्योहार एक पहले भाई की शहादत की सूचना पर सुबह बहन मैनावती बिलख पडी। परिजनों ने बताया कि शिवनारायण ने रक्षाबंधन आने का वादा किया हुआ था। ताकि बहन मैनावती से कलाई पर राखी बंंधवा सके। लेकिन रक्षाबंंधन से एक माह पहले ही भाई शहीद हो गया।

रोड ऑपनिंग ड्यूटी के दौरान हुआ हमला
परिजनों के अनुसार दोपहर में आईटीबीपी के बटालियन कमांडेंट ने फोन पर बताया कि मंगलवार सुबह नारायणपुर में छोटे डोंगर थाना क्षेत्र के अमदई घाटी के पास नक्सलियों का हमले में शिवनारायण मीणा शहीद हो गया। पिता ने बताया बटालियन के साथियों के साथ शिवनारायण नारायणपुर के विधायक व प्रदेश हस्तशिल्प बोर्ड के अध्यक्ष चन्दन कश्यप के लिए रोड ओपनिंग ड्यूटी कर रहे थे। इस दौरान नक्सलियों ने आईटीबीपी के जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इसमें शिवनारायण शहीद हो गया।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed