– एसडीएम की अध्यक्षता में मेले के आयोजन के संबंध में सभी पहलुओं के अध्ययन को कमेटी गठित

झालावाड़। झालरापाटन में राज्य स्तरीय चन्द्रभागा पशु मेला इस बार भरेगा या नहीं, इसका फैसला करने के लिए जिला कलक्टर व जिला मजिस्ट्रे ने उपखण्ड अधिकारी की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है। कोरोना गाइड लाइन के तहत कमेटी मेले के आयोजन से संबंधित सभी पहलुओं का पूर्ण अध्ययन कर रिपोर्ट जिला कलक्टर को देगी। इसके बाद ही तय होगा कि इस बार मेला भरेगा या नहीं। जिला मजिस्टेट हरिमोहन मीणा की ओर से गुरुवार को जारी आदेश में कहा कि पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक ने 14 से 24 नवम्बर तक चन्द्रभागा पशु मेला झालरापाटन में आयोजित करने का निवेदन किया है। वर्तमान में गृह विभाग की ओर से कोविड महामारी के दृष्टिकोण 11 अक्टूबर को दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। इस क्रम में उपखण्ड अधिकारी झालावाड़ की अध्यक्ष में मेले के आयोजन के लिए कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी के एसडीएम झालावाड़ अध्यक्ष रहेगा। सदस्य के रूप में पुलिस उपाधीक्षक झालावाड़, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक झालरापाटन के तहसीलदार तथा झालरापाटन नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी सदस्य होंगे। समिति की ओर से मेले के आयोजन के संबंध में किस प्रकार कार्यक्रम को सीमित रूप से कोविड उपयुक्त व्यवहार की पालना कराए जाते हुए सम्पन्न करवाया जा सकता है। इसका पूर्ण अध्ययन संबंधित पक्षों से चर्चा के बाद निष्कर्ष के रूप में समिति का निर्णय प्रस्तुत किया जाएगा। इसके बाद मेले के संबंध में अंतिम निर्णय होगा।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *