सुमित शर्मा, कानपुर
मनीष गुप्ता के हत्याकांड के 11 दिन बीत चुके हैं, लेकिन दोषी पुलिस कर्मियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के विधायक और कार्यकर्ता मनीष गुप्ता के घर पहुंचे। एसपी विधायक अमिताभ वाजपेई और इरफान सोलंकी ने मनीष की पत्नी व पिता को 10-10 लाख की चेक सौंपे। इसके साथ ही सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए, पूछा कि दोषियों की गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई।

आर्यनगर विधानसभा से सपा विधायक अमिताभ वाजपेई और सीसामाऊ विधानसभा से विधायक इरफान सोलंकी, नगर अध्यक्ष डॉ इमरान कार्यकर्ताओं के साथ मनीष गुप्ता के घर पहुंचे। दोनों विधायकों ने परिवार का हाल जाना, और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। सपा विधायकों ने 10-10 लाख की दो चेकें देकर परिवार को आर्थिक मदद दी।

सपा विधायक अमिताभ वाजपेई के मुताबिक प्रदेश सरकार मनीष के परिवार को 10 लाख की आर्थिक मदद देकर सब रफादफा करना चाहती थी। लेकिन सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पीड़ित परिवार को 20 लाख की आर्थिक मदद देने का एलान किया था, और परिवार से मुलाकात कर संभव मदद का भरोसा दिया था।

उनका कहना था कि अखिलेश यादव ने जब परिवार को 20 लाख रुपए देने का एलान किया, तो प्रदेश सरकार को भी धनराशि बढ़ानी पड़ी। हम सभी लोग आज पीड़ित परिवार से मिलने के लिए आए थे, और राष्ट्रीय अध्यक्ष के एलान के बाद परिवार को 20 लाख की राशि दी गई है। वहीं विधायक इरफान सोलंकी ने सरकार से पूछा है कि 11 दिन बीत जाने के बाद भी दोषी खुलेआम बाहर कैसे घूम रहे हैं। दोषी पुलिस कर्मियों की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही है। इसके साथ मीनाक्षी को नौकरी देने में इतनी देर क्यों की जा रही है।

सपा नेताओं ने मनीष गुप्‍ता की पत्‍नी को सौंपा चेक



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed