हाइलाइट्स

  • कुख्यात अपराधी विकास दुबे एनकाउंटर के एक साल बीत जाने के बाद भी उसकी कहानियां सामने आ रही हैं
  • हाल ही में वायरल हुए एक ऑडियो के जरिए बिकरू कांड से जुड़ा एक और मामला प्रकाश में आया है
  • एक वीडीओ (ग्राम विकास अधिकारी) विकास दुबे के एनकांउटर पर फूट-फूट कर रोया था

सुमित शर्मा, कानपुर
कुख्यात अपराधी विकास दुबे एनकाउंटर के एक साल बीत जाने के बाद भी उसकी कहानियां सामने आ रही हैं। बिकरू कांड से जुड़ा एक और मामला प्रकाश में आया है। एक वीडीओ (ग्राम विकास अधिकारी) विकास दुबे के एनकांउटर पर फूट-फूट कर रोया था। वीडियो विकास दुबे को अपना घनिष्ठ मित्र बता रहा है। ग्राम विकास अधिकारी का कथित ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे ने बीते 2 जुलाई 2020 की रात अपने गुर्गों साथ मिलकर आठ पुलिस कर्मिर्यों की हत्या कर दी थी। बिकरू हत्याकांड के बाद एसटीएफ ने विकास दुबे समेत 6 बदमाशों को एनकाउंटर में ढे़र कर दिया था। बिकरू कांड के बाद कई ऑडियो वायरल हुए, इन वायरल ऑडियो ने कई रहस्यों से पर्दा भी उठाया है। बिकरू कांड के एक साल बाद एक और ऑडियो सामने आया है।

कानपुर देहात में तैनात है वीडियो
कानपुर देहात के संदलपुर क्षेत्र में तैनात वीडिओ विपिन त्रिपाठी खुद को विकास दुबे का करीबी बता रहा है। ग्राम विकास अधिकारी की मोबाइल फोन पर किसी से बातचीत चल रही है। अधिकारी उस शख्स से रोते हुए विकास दुबे की दास्तां सुना रहा है। ग्राम विकास अधिकारी कह रहा है, ‘यदि मेरी सारी बातें खुल जाएं तो मैं जेल पहुंच जाउंगा। मैंने घटना के दो दिन पहले बात कर विकास दुबे को समझाया था कि ऐसा काम मत करो। लेकिन विकास ने मेरी बात नहीं मानी।’

वायरल हुआ ऑडियो
वीडिओ किसी शख्स से मोबाइल फोन पर कहता है कि विकास दुबे जो मारा गया है, उसका एनकाउंटर हुआ। उसके लिए मैं कितना रोया, मेरा इतना घनिष्ठ था। हो सकता है मेरी सारी बातें खुल जाएं तो मैं भी जेल में पड़ा हूं। कितना मुझे चाहता था वो इंसान। मेरे इतने घनिष्ठ संबंध थे। जिस दिन यह कांड हुआ, उससे दो दिन पहले की बात बता रहा हूं। मैंने उसको यही बात कही थी कि विकास भाई (मुझसे चार-पांच साल बड़े थे लेकिन मैं विकास ही कहता था) अति ना करो। विकास कहते थे कि हम देख लेंगे। मैं कहता था ऐसे मत बोलो गलत तरीका है।

‘500 लोग रोजाना खाना खाते थे’
वायरल ऑडियो में ग्राम विकास अधिकारी कहता है कि अपने घर में रोज अकेले एक हजार लोगों को खाना खिलाता था। जितने पुलिस वाले हैं चौबेपुर से लेकर कानपुर क्षेत्र के, उसके घर पर लंगर चलता था पूरे दिन। कम से कम दो, चार सौ, पांच सौ लोग रोज खाना खाने आते थे पुलिस वाले और सब मिलाकर। लेखपाल हो, सेक्रटरी हो, वीडीओ हो… ये हाल था उसके यहां का। मैं उसके घर में किस तरह से रहा हूं।’

वीडीओ ने किया इनकार
इस पूरे मामले में ग्राम विकास अधिकारी का कहना है कि यह वायरल ऑडियो उसका नहीं है। मेरा मोबाइल लेकर किसी ने यह साजिश रची है। वहीं मंगलपुर थाना प्रभारी आरबी पाल के मुताबिक वायरल ऑडियो प्रकाश में आया है। आलाधिकारियों के निर्देश के बाद ही अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

विकास दुबे (फाइल फोटो)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *