हाइलाइट्स:

  • कोरोना काल के बीच गाजियाबाद जिले में भी हुई अनोखी शादी
  • शादी के लिए ऑनलाइन ऐप के जरिए जुड़े सारे रिश्तेदार
  • 20 लोगों के साथ ही कराया गया पूरा वैवाहिक समारोह, हुआ कोविड नियम का पालन

गाजियाबाद
शादी-ब्याह का मौका हो तो बरातियों के अलावा सबसे ज्यादा पूछ जीजाजी और फूफाजी की होती है। दोनों रूठ न जाएं, इसका खास ध्यान परिवार वाले रखते हैं, लेकिन कोरोना संकट में यह सब बदल रहा है। समझदार लोग शादी समारोह में भीड़ इकट्ठी न कर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए अपने नजदीकी रिश्तेदारों को राजी कर रहे हैं। ऐसा ही समझदारी भरा काम कर दिखाया है गाजियाबाद के वसुंधरा में रहने वाले झा परिवार ने।

स्थानीय निवासी संजीव झा की साली की शादी 3 मई को पटना में होनी थी। तैयारियां जोरों पर थी कि कोरोना की दूसरी लहर आ गई। शादी समारोह में सीमित लोगों को बुलाने की गाइडलाइन भी जारी हो गई। ऐसे में वधू पक्ष की चिंता बढ़ गई। बड़ी टेंशन थी कि सीमित मेहमानों में किसे बुलाएं और किसे छोड़ें। एक दामाद को बुलाते तो दूसरे रूठ जाते और सभी को बुलाते तो मेहमानों की संख्या बढ़ने से नियम टूटते।

ऐप के जरिए हुआ लाइव प्रसारण
संजीव झा को यह बात पता चली तो उन्होंने खुद अपने ससुराल में फोन किया। सख्ती से सभी से कह दिया कि शादी भले ही न टालें, लेकिन कार्यक्रम में 20 से ज्यादा लोग इकट्ठे न हों। इसके पालन के लिए उन्होंने आइडिया दिया कि सभी मेहमानों को ऐप के माध्यम से शादी की रस्में ऑनलाइन दिखाई जाएं। साली की शादी के बावजूद उन्होंने वहां न जाकर खुद भी ऑनलाइन ही इससे जुड़ने का फैसला लिया।

ऑनलाइन ही दिया शगुन

संजीव बताते हैं कि वर व वधू पक्ष के रिश्तेदारों ने वर्चुअली ही रस्में और सात फेरे देखे। सभी ने ऑनलाइन ही वर-वधू को आशीर्वाद भी दिया। लड़का हैदराबाद और लड़की बंगलुरू में जॉब करते हैं। दोनों इंजीनियर हैं। उनके सहकर्मी भी ऑनलाइन ही शादी से जुड़े। शादी घर से ही हुई। दूल्हे पक्ष की ओर से माता-पिता मंडप में मौजूद रहे। दोनों परिवारों से छह-छह लोग यहां रहे। रिश्तेदारों ने दूल्हा-दुलहन को शगुन भी ऑनलाइन ही दिया।

सांकेतिक तस्वीर



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *