चित्तौडग़ढ़. शहर के कलक्ट्रेट चौराहे पर लगी ट्राफिक सिग्नल लाइटें पिछले कई दिनों से बंद पड़ी है। ऐसे में यहां पर कई बार हादसे की स्थिति बन जाती है। बताया जा रहा है कि गत दिनों कलक्ट्रेट के पास गिरी बिजली के कारण ट्राफिक सिग्नल लाइटों के कुछ उपकरण खराब हो गए और वे यहां पर नहीं मिल रहे है इसलिए इसको ठीक करने में भी खासी परेशानी हो रही है।

चित्तौडग़ढ़. शहर के कलक्ट्रेट चौराहे पर लगी ट्राफिक सिग्नल लाइटें पिछले कई दिनों से बंद पड़ी है। ऐसे में यहां पर कई बार हादसे की स्थिति बन जाती है। बताया जा रहा है कि गत दिनों कलक्ट्रेट के पास गिरी बिजली के कारण ट्राफिक सिग्नल लाइटों के कुछ उपकरण खराब हो गए और वे यहां पर नहीं मिल रहे है इसलिए इसको ठीक करने में भी खासी परेशानी हो रही है।
शहर के कलक्ट्रेट चौराहे पर बरसों से यातायात लाइटें लगी हुई है। ऐसे में यहां से गुजरने वाले वाहनों को इसी के अनुरूप गुजरना पड़ता है। गत दस दिन पूर्व रात के समय कलक्ट्रेट के निकट एक बिजली के ट्रासंफार्मर पर बिजली गिरी और उसके बाद से ट्राफिक लाइटें बंद हो गई। ऐसे में यहां पर अब यातयात संचालन की व्यवस्था भी लडख़ड़ाने लगी है। इस कारेण कई बार वाहनों के आपस में भिडऩे की स्थिति बन जाती है।

लोग करते रहते है इंतजार
ट्राफिक लाइटें बंद होने के कारण वाहन कई बार खड़े होकर इसके सिग्रल का इंतजार करते है लेकिन बाद में कुछ देर लाईट नहीं चलती तो एक साथ तीनों ओर से यातायात संचालित हो जाता है ऐसे में वाहनों के आपस में टकराने की स्थिति बन जाती है।

यातायात पुलिसकर्मी करवाते है संचालन
दिनभर में कई बार कलक्ट्रेट पर लगे यातायात पुलिसकर्मी इसका संचालन करवाते है लेकिन कई बार यातायात पुलिस कर्मियों के नहीं होने से वाहना चालकों को परेशानी हो जाती है।

मुम्बई से आएगा पाटर््स
बतायाजा रहा है कि नगर परिषद की ओर से इसे ठीक करने का प्रयास किया गया लेकिन कोई पाटर््स ऐसा खराब हुआ है जो राजस्थान में नहीं मिल रहा हे। ऐसे में इसके लिए मुम्बई की एक कम्पनी को लिखा गया है। अब इसे ठीक करने के लिए नए सिरे ठेका किया जाएगा उसके बाद यह ठीक होगी।

इनका कहना है..
बिजली गिरने से कुछ पार्ट्स खराब हो गए है, जो यहां पर नहीं मिल रहे है। ऐसे में मुम्बई की एक कम्पनी को लिखा है। इसके लिए निविदा भी की जा रही है। निविदा होने के बाद इसे ठीक करवाया जाएगा।
संदीप शर्मा, सभापति नगर परिषद चित्तौडग़ढ़





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *