हर्षोल्लास के साथ मनाया दुर्गाष्टमी का पर्व
– मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

पोकरण. शारदीय नवरात्रा के मौके पर बुधवार को कस्बे सहित क्षेत्र में दुर्गाष्टमी का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। दिनभर कस्बे के सभी देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की रेलमपेल लगी रही तथा मंदिरों को आकर्षक रोशनी से सजाया गया और जाज्वला मैया, लटियाल माता व हिंगलाज माता मंदिर को छोड़कर सभी मंदिरों में यज्ञ का आयोजन किया गया। इस मौके पर श्रद्धालुओं ने यज्ञ में आहुतियां देकर विश्व शांति, मानव कल्याण व सुख समृद्धि के लिए प्रार्थना की। कस्बे में स्थित आशापुरा माता मंदिर, खींवज माता मंदिर, जया संच्चियाय सिद्धेश्वरी सिद्धपीठ, जाज्वला मंदिर, करणी माता मंदिर, कालका मंदिर, धरज्जवल माता मंदिर, चामुण्डा माता मंदिर सहित सभी देवी मंदिरों में सुबह से लगाकर शाम तक श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई।
आशापुरा व खींवज मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़
इस मौके पर कस्बे के प्रमुख आशापुरा माता मंदिर में भक्तों की भीड़ रही। यहां अलसुबह ही दर्शनार्थियों की भीड़ उमडऩे लगी। आचार्य पंडित पुरुषोतम छंगाणी के सानिध्य में यजमान अरुण बिस्सा की ओर से पूजा-अर्चना की गई। साथ ही मंदिर में आशापुरा माता की प्रतिमा के समक्ष छप्पन भोग की झांकी सजाई गई। दोपहर पश्चात् मंदिर में स्थित यज्ञशाला में आयोजित हवन में श्रद्धालुओं ने अपनी ओर से आहुतियां दी। इस मौके पर बीकानेर, जैसलमेर, फलोदी से आए अनेक श्रद्धालुओं ने मंदिर पहुंचकर दर्शन किए। शाम के समय मंदिर से लेकर कस्बे तक तीन किमी सड़क पर श्रद्धालुओं की रेलमपेल देखने को मिली, जो देर रात्रि तक भी लगी रही। इसी प्रकार प्रसिद्ध खींवज माता मंदिर में पुजारी महेश शर्मा व आचार्य पंडित चंद्रशेखर के सानिध्य में पूजा-अर्चना की गई। यहां यजमान पवन नासिक सहित यजमानों ने हवनात्मक यज्ञ का आयोजन किया गया। यहां उपस्थित यजमानों ने यज्ञ में आहूतियां दी। साधोलाई स्थित पुष्करणा छंगाणियों की कुलदेवी सच्चियाय मंदिर में अष्टमी के मौके पर यज्ञशाला में यजमानों व अन्य श्रद्धालुओं ने यज्ञ में आहुतियां दी। दुर्गाष्टमी के मौके पर गांधी माहेश्वरी समाज की कुलदेवी धरज्जवल माता मंदिर में यजमानों ने पूजा-अर्चना की। इसी प्रकार कालका माता मंदिर, सेवगों की बगेची स्थित पीपलाद माता मंदिर, चौधरियों की गली स्थित आई माता मंदिर सहित अन्य मंदिरों में यज्ञ का आयोजन किया गया।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *